सीएम हेमंत सोरेन को मुस्लिम क्रियावादी संगठन व उग्रवादियों से खतरा, प्रशासन एलर्ट

रांची। झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन बुधवार को गिरिडीह के झंडा मैदान में झारखंड सरकार की महत्वाकांक्षी ‘आपकी योजना, आपकी सरकार, आपके द्वार’ कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे. इस दौरे पर सीएम पर खतरा भी है. सीएम को मुस्लिम क्रियावादी संगठन सहित माओवादी उग्रवादी संगठनों से खतरे की आशंका है. इसे देखते हुए सीएम को जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा में रखा गया है. जिला प्रशासन ने इसको लेकर एलर्ट जारी किया है. किसी तरह के हमले की आशंका को देखते हुए, चाक चौबंद सुरक्षा सुरक्षा व्यवस्था की गयी है. जिला प्रशासन ने पदाधिकारियों और पुलिस अधिकारियों को चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था को लेकर कई निर्देश दिये. कहा कि सभी लोग अपने-अपने दायित्व का बखूबी निर्वाह करें.

गिरीडीह में पकड़ा गया था बांग्लादेशी नागरिक

बीते 10 अगस्त को गिरीडीह जिले के गांवा पुलिस ने एक बांग्लादेशी नागरिक को पकड़ा था. आरोपी नौशाद आलम पूर्वी पिहरा के चटनियादाह गांव निवासी अजीमुद्दीन का बेटा बताया जा रहा है. आरोपी के खिलाफ धनवार के सहायक निर्वाचन सह अंचल अधिकारी महेंद्र रविदास ने गांवा थाना में केस दर्ज कराया था. आरोपी नौशाद आलम के पास पहले से बांग्लादेश का पासपोर्ट मौजूद था.

आतंकी संगठन से जुड़े गिरीडीह के इनामुल को यूपी एटीएस ने पकड़ा था

इसी वर्ष मार्च में यूपी के सहारनपुर से आतंकवाद निरोधक दस्ता ने लश्कर-ए-तैयबा के संदिग्ध आतंकी इनामुल हक को गिरफ्तार किया था. इनामुल हक गिरिडीह जिले के गांवा प्रखंड के पटना गांव का रहने वाला है. गिरफ्तार इनामुल हक धार्मिक स्थलों में बम ब्लास्ट कर धार्मिक उन्माद फैलाने का प्लान बना रहा था. वह वॉट्सऐप ग्रुप के माध्यम से पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के लोगों से जुड़ा हुआ था और जिहाद पर चर्चा किया करता था. उसपर लोगों का ब्रेनवाश करने का आरोप है. तमाम आरोपों को लेकर उत्तर प्रदेश एटीएस ने उसकी गिरफ्तारी की. बताया जाता है कि सीएए के खिलाफ चले आंदोलन उसने भी हिस्सा लिया था.

मुखिया प्रत्याशी के नामांकन में पुलिस के सामने लगे पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे

इस वर्ष अप्रैल माह में गिरिडीह के डोकीडीह पंचायत के मुखिया प्रत्याशी के नामांकन जुलूस के दौरान पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगे. वायरल वीडियो में जुलूस के दौरान पुलिस भी दिखाई दे रही थी. इसके बावजूद पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लग रहे थे. हालांकि पुलिस मामले में कार्रवाई करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार किया था.

विधायक इरफान अंसारी ने जतायी नाराजगी

सीएम हेमंत सोरेन का गिरिडीह जिला मुख्यालय में प्रस्तावित कार्यक्रम की सुरक्षा एवं विधि व्यवस्था के लिये डीसी एवं एसपी के संयुक्त आदेश मे मुस्लिम क्रियावादी संगठनों से खतरे की सूचना पर जमकर बरसते हुए हज कमिटी के चेयरमैन सह जामताड़ा विधायक डॉक्टर इरफान अंसारी ने कहा की मुस्लिम समाज पर इस तरह का गलत तोहमत लगाना सरासर गलत है. जिस प्रकार जिला प्रशासन ने मुस्लिम समाज को उग्रवादी की श्रेणी में खड़ा कर दिया है, इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. हेमंत सरकार को बनाने में अल्पसंख्यक समाज की अहम भूमिका रही है और आज उसी कौम को कुछ भाजपा एवं आरएसएस मानसिकता के पदाधिकारियों द्वारा जलील एवं नीचा दिखाया जा रहा है. युवाओं में एक गलत संदेश जा रहा है. पूर्व की सरकार ने इस समाज को हमेशा से बदनाम करने का काम किया है और आज अगर अपनी सरकार में भी इस तरह की बदनामी का दाग झेलना पड़े तो फिर समाज अब किससे उम्मीद रखें ? मैं वैसे पदाधिकारियों से पूछना चाहता हूं की झारखंड में एक भी ऐसे उग्रवादी मुस्लिम संगठन का नाम बताएं जो क्रियान्वित है. यह लोग जानबूझकर सरकार की छवि को धूमिल करना चाहते हैं. ऐसे में मेरा सरकार से मांग है कि मामले को संज्ञान में लें और वैसे पदाधिकारियों को चिन्हित कर उचित कार्रवाई करें.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *