जाने आखिर क्यों रिटायरमेंट के 4 वर्ष बाद भी रजनीकांत को ‘झारखंड सरकार’ में मिला तीन प्रखंड का प्रभार

पलामू। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने वर्ष 2018 में राज्य के कई प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारियों को सेवानिवृति के बाद भी अनुबंध पर एक साल के लिए अनुबंधित कर दिया. वह भी उनके सेवानिवृति वाले प्रखंड में ही. हालांकि 2019 में ही करीब एक दर्जन प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारियों की संविदा अभी समाप्त हो गई, लेकिन बार-बार सभी प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारियों को सेवा विस्तार दिया गया है. रघुवर दास के बाद अब वर्तमान में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी अपना आशीर्वाद रघुवर के इन चहेते आपूर्ति पदाधिकारियों को दे दिया है.

बताते चलें कि ऐसे ही एक पदाधिकारी, जो वर्ष 2018 से ही सेवानिवृत होने के बावजूद अपने मूल पद पर ही बने हुए हैं. बस अंतर इतना हुआ कि उन्हें अब संविदा आधारित मासिक राशि प्राप्त होती है. पिछले चार सालों से रिटायर्ड होने के बावजूद वो पदाधिकारी पलामू जिले के तीन प्रखंडों सतबरवा, चैनपुर एवं डालटनगंज सदर प्रखंड के प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी के पद पर कार्यरत हैं. मजेदार बात है कि आपूर्ति विभाग लगातार भ्रष्टाचार के लिए सुर्खियों में रहता है. हम जिस पदाधिकारी की बात कर रहे हैं, उस पदाधिकारी का नाम रजनीकांत पांडे बताया गया है. इसकी पुष्टि स्वयं जिला आपूर्ति पदाधिकारी शब्बीर अहमद ने की है.

जिला आपूर्ति पदाधिकारी शब्बीर अहमद से ये जानना चाहा कि सतबरवा, चैनपुर एवं डालटनगंज सदर में राशन उठाव का क्या कोटा है या कितने कार्डधारी हैं. इस पर जिला आपूर्ति पदाधिकारी कोई जवाब नहीं दे पाए. उन्होंने कहा कि कोटा की जानकारी चाहिए तो संबंधित प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी से संपर्क करें.

बताते चलें कि सन 1992 से ही प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी रजनीकांत पांडे पलामू जिले के एक ही क्षेत्र में पदस्थापित हैं. रिटायरमेंट के बाद यह सिलसिला चल रहा है. इसे बदलने की कोशिश अबतक नहीं की गई है.

एक सप्ताह पूर्व पलामू उपायुक्त के समक्ष जनता दरबार में राशन नहीं दिए जाने की शिकायत की गई थी. इस पर उपायुक्त ने तत्काल कार्रवाई करते हुए लाभुक को अपने कार्यालय में राशन दिलवाया था तथा उस राशन को सतबरवा तक ले जाने के लिए लाभुक को वाहन की भी व्यवस्था करवाई थी.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *