सीएम हेमंत सोरेन ने किया जेसोवा मेला का उदघाटन, लगाये गए हैं सैकड़ों स्टॉल

रांची। झारखंड आईएएस ऑफिसर्स वाइफ एसोसिएशन (जेसोवा) की ओर से मोरहाबादी मैदान में 14 से 18 अक्तूबर तक पांच दिवसीय दीपावली मेला आयोजन किया गया है. इस मेला का उद्घाटन शुक्रवार की शाम मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और उनकी पत्नी कल्पना सोरेन ने की.

जेसोवा की ओर से आयोजित इस मेला में झारखंड सहित देश के विभिन्न राज्यों के सैकड़ों स्टॉल लगाए गए हैं. मेले में लगे विभिन्न स्टॉल का निरिक्षण कर मुख्यमंत्री ने इसकी सराहना की. मुख्यमंत्री ने कहा कि सामाजिक सरोकार के जिस संकल्प और उद्देश्य के साथ जेसोवा आर्थिक और सामाजिक रूप से लाचार और जरूरतमंदों की सहायता कर रहा है. दीपावली मेला भी उसी कड़ी का एक हिस्सा है. जेसोवा के सामाजिक सरोकार का दायरा और बढ़े. इसको लेकर लगातार प्रयास किया जाए. मुख्यमंत्री ने कहा कि जरूरतमंदों और लाचार लोगों की मदद करना हमारे देश की सभ्यता और संस्कृति में रचता-बसता है. वैश्विक महामारी के दौरान पूरे देश में जिस तरह विभिन्न संस्थायें लोगों की मदद करने के लिए सामने आई. किसी ने गरीबों और जरूरतमंदों को मुफ्त में खाना खिलाया तो किसी ने दवाइयां उपलब्ध कराई तो किसी ने अन्य माध्यमों से मदद पहुंचाई. यह हम सभी को मानवता और सामाजिक जुड़ाव के लिए प्रेरित करता है. इससे मदद और सहायता पहुंचाने वालों को काफी बल मिलता है.

जेसोवा मेला उदघाटन समारोह में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के हाथों देश के लिए अपनी शहादत देने वाले वीर शहीद कुंदन कुमार ओझा की धर्मपत्नी नम्रता ओझा, वीर शहीद गणेश हांसदा की माता कापरा हांसदा और वीर शहीद सुनील लकड़ा की धर्मपत्नी मधुवानी लकड़ा को जेसोवा की ओर से वीर नारी सम्मान के तहत एक-एक लाख रुपए का चेक प्रदान किया गया. मुख्यमंत्री द्वारा राजधानी रांची के डुमरदग्गा स्थित ऑब्जर्वेशन होम को एक लाख रुपए की सहायता राशि दी गई. इसके अलावे गढ़वा जिला के महुपी आंगनबाड़ी केंद्र को मॉडल आंगनबाड़ी केंद्र के रूप में विकसित करने के लिए एक लाख 75 हजार रुपए की सहायता राशि जेसोवा की ओर से दी गई.

चतरा जिले के हंटरगंज की रहने वाली और एसिड अटैक की पीड़िता काजल कुमारी को बेहतर इलाज के लिए एक लाख रुपए का चेक दिया गया. थैलेसीमिया बीमारी से ग्रसित शांभवी कुमारी को इलाज के लिए तीन लाख रुपए जेसोवा की ओर से दिए गए. रांची जिले के मांडर प्रखंड में रात्रि पाठशाला के माध्यम से बच्चों को पढ़ाने वाली अनीता उरांव को 80 हजार रुपये की सहायता राशि दी गई. इसके साथ ही डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी यूनिवर्सिटी के हॉस्पिटल मैनेजमेंट कोर्स की छात्रा प्रियंका कुमारी और एमबीए के विद्यार्थी राजीव रंजन को 50-50 हजार रुपए की सहायता राशि दी गई.

जेसोवा द्वारा आयोजित इस मेले में हर दिन शाम में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन होगा. इसमें देश भर के प्रसिद्ध कलाकार प्रस्तुति देंगे. वहीं, बच्चों के साथ-साथ बड़ों के लिए गेम्स भी व्यवस्था की गई है. कार्यक्रम के आयोजकों के अनुसार सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान विभिन्न राज्यों के कलाकारों द्वारा नृत्य, संगीत का आनंद मेला में आनेवाले उठा सकेंगे. मेला में स्वदेशी कपड़े, जनजातीय भोजन, स्वदेशी कला कोहबर और सोहराई से संबंधित स्टॉल लगाये गए हैं, जो आकर्षण का केंद्र बना है.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *