छात्रा के कपड़े उतरवाने का मामले में स्वास्थ्य मंत्री का बयान- दोषी को बख्शा नहीं जाएगा, छात्रा का कराएंगे एम्स में इलाज

जमशेदपुर। झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता टीएमएच अस्पताल पहुंचे और जलने के कारण इलाज करा रही साकची के शारदा मणि स्कूल की छात्रा की हालत की जानकारी ली. परिजनों से मिलकर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि छात्रा का निःशुल्क इलाज कराएंगे. इस मामले पर सरकार ने संज्ञान ले लिया है, बेहतर इलाज के लिए छात्रा को एम्स भी भेजा जाएगा. साथ ही दोषी को माफ नहीं किया जाएगा.

जमशेदपुर दौरे पर आए झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता बिष्टुपर स्थित टीएमएच अस्पताल पहुंचे और इलाजरत कक्षा 9 की छात्रा ऋतु कुमारी की हालात की जानकारी ली. साथ ही परिजनों से मिलकर कहा कि ऋतु कुमारी का इलाज निःशुल्क होगा, तबीयत थोड़ी बेहतर होने पर रिम्स या एम्स भेजा जाएगा. उन्होंने पीड़ित छात्रा के परिजनों से कहा है कि इस मामले में जो भी दोषी पाया जाएगा उसे माफ नहीं किया जाएगा.

गौरतलब है कि 14 अक्टूबर 2022 को जमशेदपुर के साकची में शारदामणि गर्ल्स हाई स्कूल की 9वीं की छात्रा ऋतु ने केरोसिन छिड़ककर आत्महत्या करने की कोशिश की थी. घटना के बाद उसे एमजीएम लाया गया था और वहां से टीएमएच अस्पताल रेफर किया गया था.

क्या है पूरा मामला

बताया जा रहा है कि परीक्षा के दौरान उसे स्कूल की शिक्षिका को शक हुआ कि छात्रा नकल कर रही है. इसके बाद शिक्षिका छात्रा को दूसरे कमरे में ले गई और कपड़े उतरवाकर तलाशी ली. इससे आहत छात्रा घर पहुंची और खुद को कमरे में बंद कर केरोसिन छिड़ककर आग लगा ली. इसके बाद उसे तत्काल अस्पताल लाया गया. इस मामले में परिजनों और स्थानीय बस्ती वालों ने 15 अक्टूबर को जिला शिक्षा अधीक्षक कार्यालय के समक्ष जमकर हंगामा किया था और दोषी पर कार्रवाई की मांग की थी. बाद में आरोपी शिक्षिका को हिरासत में ले लिया गया था. इधर मामले में जिला उपायुक्त ने संज्ञान लेते हुए दो सदस्यीय जांच टीम गठित कर दिया था.

16 अक्टूबर को जिला उपायुक्त और एसडीएम पीड़ित छात्रा ऋतु से मिलने अस्पताल पहुंचे थे और ऋतु से मिलकर उसका हालचाल जाना था. उपायुक्त ने अस्पताल के चिकित्सकों से ऋतु के स्वास्थ्य की जानकारी ली और परिजनों से मुलाकात कर उन्हें हर जरूरी सहायता मुहैया कराने का आश्वासन दिया. जिला उपायुक्त ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर छात्रा की मां का तकनीकी कारणों से विधवा पेंशन रूका हुआ था जिसे तत्काल चालू करने का निर्देश दिया गया है. इसके अलावा छात्रा के दूसरे भाई- बहन की शिक्षा का प्रबंध भी जिला प्रशासन करेगा.जबकि मामले में आरोपी शिक्षिका को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है.

इधर शहर पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री टीएमएच अस्पताल पहुंचे और पूरे मामले की जानकारी ली. उन्होंने बताया कि इस घटना पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने संज्ञान लिया है. हम इस तरह की घटना की निंदा करते हैं, छात्रा के साथ जो हुआ है उसकी पूरी जांच की जा रही है. इसमें जो भी दोषी पाए जाएंगे उन्हें माफ नही किया जाएगा, उनपर कार्रवाई की जाएगी. राज्य के स्कूलों में इस तरह की कार्रवाई को मुख्यमंत्री और मैं खुद बर्दाश्त नही करेंगे. बछात्रा की स्थिति थोड़ी सुधार होने पर उसे रिम्स या एम्स भेजा जाएगा.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *