दम तोड़ती स्वास्थ्य सेवाएं उठा रही सरकारी योजनाओं पर सवाल

सिमडेगा। एक ओर जहां जिलेभर के कई प्रखंडों सहित पूरे राज्य में आप की योजना-आपकी सरकार-आपके द्वार कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. इसके माध्यम से ग्रामीणों को सुविधा और योजनाओं का लाभ मुहैया कराने और समस्याओं से अवगत होने के बाद जल्द उसका निदान करने के दावे किए जा रहे हैं. वहीं दूसरी ओर सिमडेगा में मुलभूत सुविधा का घोर अभाव दिख रहा है. बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था के कारण ग्रामीणों को मरीज को कुर्सी पर ढोकर नदी पार करना पड़ रहा है.

कोलेबिरा प्रखंड के बरसलोया पंचायत के बरटोली गांव से एक ऐसा मामला सामने आया जा है जो यहां की स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल खोल रहा है. यहां मंगलवार देर रात मरीज तारावती देवी की तबीयत अचानक खराब हो गई. परिजन सहित आसपास के लोगों द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए जाने के लिए गाड़ी की व्यवस्था तो की गई, परंतु रास्ते में नदी होने के कारण गाड़ी गांव तक नहीं पहुंच सकी. इसलिए मरीज को कुर्सी पर ढोकर नदी पार कराया गया और गाड़ी तक पहुंचाया गया. महिला को कोलेबिरा सीएससी में भर्ती कराया गया है. मरीज की स्थिति अभी बेहतर बताई जा रही है.

यह गांव के भौगोलिक स्थिति की बात करें तो 3 छोर पर नदी और एक छोर पर घने जंगल-पहाड़ी से घिरा हुआ है. जहां के लोग काफी मुश्किलों का सामना कर गांव तक पहुंचते हैं. क्षेत्र के ग्रामीणों ने कई बार विधायक, सांसद और जिला प्रशासन को आवेदन देकर पुल निर्माण कराने की मांग की है, लेकिन इन्हें अबतक निराशा ही अब तक हाथ लगी है.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *