ग्रामीणों ने पूर्व मंत्री योगेंद्र साव को बनाया बंधक, घंटों बाद छोड़ा

रामगढ़। पतरातू में पूर्व मंत्री योगेद्र साव के खिलाफ आज भी ग्रामीण आक्रोशित हैं. पूर्व मंत्री के खिलाफ पतरातू डैम के समीप जमीन कब्जा करने का आरोप है. मेलानी गांव और उचरिंगा के ग्रामीण लगातार विरोध कर रहे हैं. ग्रामीणों ने आज सुबह गाड़ी समेत योगेंद्र साव का घेराव कर उन्हें बंधक बना लिया है. पूर्व मंत्री घंटों ग्रामीणों के कब्जे में रहे. मौके पर बीच बचाव पहुंचे एसडीपीओ और पतरातू थाना सहित अन्य थाना पुलिस मौके पर पहुंचकर समझा बुझाकर शांत कराया पुलिस द्वारा आश्वासन दिये जाने के बाद योगेद्र साव को छोड़ा गया.

मना करने पर दी जाती है जान से मारने की धमकी

रैयत अमरनाथ महतो ने बताया कि योगेद्र साव के बेटे सुमित, पंकजनाथ साहू अपने कार्यकर्ता के साथ रैयती जमीन पर जबरन कब्जा कर घेराबंदी करना चाहते हैं. रोकने पर मारपीट और जान से मारने की धमकी दी जाती है. योगेद्र साव के द्वारा अज्ञात लोगों द्वारा धमकी दी जाती है. 2020 से ही उक्त जमीन पर ये लोग दावा कर रहे हैं. जबकि यह रैयती जमीन है मामले को लेकर सीओ और थाना प्रभारी से कई बार शिकायत की गयी लेकिन उचित कार्रवाई नहीं की गई. बुधवार को योगेद्र साव समर्थक के साथ पहुंचे और घेराबंदी का काम शुरु करवा दिया. मामले की सूचना स्थानीय पुलिस को दी गयी. मौके पर पहुंचकर पुलिस काम बंद करवा दिया. लेकिन पुलिस के जाने के बाद दुबारा काम शुरु कर दिया गया. जबकि उक्त जमीन पर धारा 107 लगा हुआ है. मामले को लेकर थाने में धरना दिया गया, तो पुलिस द्वारा लिखित शिकायत की मांग की गयी. लिखित शिकायत देने के बाद पुलिस ने पहुंचकर काम बंद करवा दिया है.

पतरातू के पास 39 डिसमिल जमीन भी कब्जाने का है आरोप

बीते रविवार को पूर्व कृषि मंत्री योगेंद्र साव के समर्थकों ने दोपहर में पतरातू डैम के पास बने लेक रिसॉर्ट के मुख्य गेट का ताला तोड़ दिया था. कर्मचारियों से भी दुर्व्यवहार किया. विरोध में कर्मचारियों ने काम बंद करने की चेतावनी दी थी. हालांकि बाद में रिसॉर्ट में ठहरे योगेंद्र साव बाहर निकले और कर्मचारियों से कहा कि यदि यह कृत्य उनके समर्थकों का होगा, तो उन पर भी कार्रवाई होगी. लेक रिसॉर्ट प्रबंधक अरुण कुमार ने पूरी मामले की जानकारी जेटीडीसी प्रबंधन के साथ प्रशासन को भी दी. उन्होंने बताया कि योगेंद्र साव कुछ दिन से यहां ठहरे हुए थे. उनके समर्थक उनसे मिलने के लिए रात दो बजे गेट खोलने के लिए कह रहे थे. गेट नहीं खुलने पर ताला तोड़ दिया. योगेंद्र के समर्थक डैम के पास उचरिंगा में टर्निंग प्वाइंट नामक रेस्टोरेंट के पीछे स्थित 39 डिसमिल जमीन पर भी कब्जे की कोशिश में जुटे हैं. रात में दर्जनों लोगों के साथ यहां काम कराया जा रहा था. इसके खिलाफ रैयत नेजाम अंसारी, कयूम की मां सकीना बीबी ने एसपी,डीसी समेत पतरातू थाना में आवेदन दिया. इसमें योगेंद्र साव, भाई सागर साव, पुत्री अंबा प्रसाद व पुत्र अंकित पर आरोप लगाते हुए बताया गया है कि इन्हीं के इशारे पर जमीन को हथियाने की कोशिश हो रही है.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *