दीवाली की धूम,सजा पटाखों का बाजार

रांची। दीपोत्सव में लोग अपने-अपने घरों में रंगोली बनाते हैं, दीप जलाते हैं. सुख समृद्धि हमारे घर आए इसकी कामना लिए घर और आसपास के इलाकों को रोशनी से जगमग करते हैं. जिससे माता लक्ष्मी उनके घर पधारें. वहीं दीपावली की रात लोग आतिशबाजी भी खूब करते हैं. राजधानी रांची में अभी से ही अलग-अलग जगहों पर पटाखे की दुकानें सज गयी हैं. रांची के मोराबादी मैदान, हरमू मैदान में एक ही जगह पर अस्थायी रूप से पटाखों की दुकान लगी है. जहां बड़ी संख्या में लोग अभी से ही पटाखे खरीदने पहुंच रहे हैं.

डांसिंग बटर फ्लाई बना है बच्चों का मनपसंद

वैसे तो राजधानी रांची के पटाखा बाजार में एक से बढ़कर एक पटाखे हैं. लेकिन इस साल बच्चों को सबसे अधिक डांसिंग बटर फ्लाई खूब लुभा रहा है. यह अपने तरह का खास पटाखा है जो जलने पर तितली की तरह डांस करता है. वहीं युवाओं की पसंद बुलेट बम और राकेट बना हुआ है. वहीं महिलाएं अनार, चकरी को सबसे ज्यादा पसंद कर रही हैं.

इको फ्रेंडली और ग्रीन पटाखों की बिक्री

सुप्रीम कोर्ट के आदेश और प्रशासन के निर्देशों के अनुसार इस वर्ष भी राजधानी में सिर्फ इको फ्रेंडली ग्रीन पटाखे ही बिक रहे हैं . शिवकाशी में बनने वाले इन पटाखों के हर डिब्बे के ऊपर ग्रीन पटाखे होने का लोगो लगा है ताकि पहचानने में आसानी हो. ये पटाखे कम से कम प्रदूषण करते हैं.

पिछले साल की अपेक्षा 30-40 फीसदी तक बढ़े दाम

रांची में पटाखों के थोक विक्रेता मनोज कुमार चौधरी कहते हैं कि पेपर, एल्युमीनियम पाउडर, नाइट्रेट और अन्य वस्तुओं की कीमत में बढ़ोतरी की वजह से इस वर्ष हर पटाखे की कीमत 30 से 40 फीसदी तक बढ़ी है. इसके बावजूद लोगों में पटाखों को लेकर उत्साह में कोई कमी नहीं है. मनोज कुमार चौधरी कहते हैं कि दो वर्ष के कोरोना काल के बाद अब जीवन सामान्य हुई है. ऐसे में उम्मीद है कि लोग पूरे उत्साह के साथ दीवाली, छठ और गुरु पूर्णिमा मनाएंगे और पटाखों की भी बंपर बिक्री होगी.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *