एटीएस की कार्रवाई में गैंगस्टर अमन के 81 ठिकानों पर हुई छापेमारी, संपत्ति के कागजात और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बरामद

रांची। जेल में बंद अपना साम्राज्य चलाने वाले कुख्यात गैंगस्टर सुजीत सिन्हा और अमन साव के ठिकानों पर झारखंड एटीएस की टीम ने दबिश दी है. शनिवार को झारखंड के आठ जिलों में एक साथ एटीएस की टीम ने गैंगस्टर अमन और सुजीत के 81 ठिकानों पर छापेमारी की. छापेमारी के दौरान एटीएस ने संपत्ति के कागजात और कई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बरामद किए हैं.

एटीएस ने शनिवार को सुबह तीन बजे ही अमन साव के ठिकानों पर छापेमारी की. एक साथ रांची, रामगढ़, बोकारो, हजारीबाग, पलामू, चतरा, धनबाद स्थित अमन के सहयोगियों के घरों पर रेड किया. दरअसल, झारखंड एटीएस को यह जानकारी मिली थी कि जेल में बंद गैंगस्टर अमन साव का गिरोह रांची, रामगढ़, हजारीबाग, चतरा, पलामू और धनबाद जैसे शहरों में अपने नेटवर्क को मजबूत कर रहा है. संगठन को मजबूत करने के लिए अमन विभिन्न नक्सली संगठनों के साथ मिलीभगत से कारोबारियों को धमका रहा है. इसी सूचना पर एटीएस द्वारा यह रेड की गई. एटीएस की जांच में यह भी तथ्य सामने आए हैं कि अमन गिरोह अत्यंत तेजी के साथ संगठन के विरुद्ध दर्ज कांडों से संबंधित साक्ष्यों को नष्ट करने का प्रयास कर रहा है.

एटीएस अधिकारियों के अनुसार अमन के कुल 81 ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की गई. छापेमारी के दौरान अमन साव द्वारा अर्जित की गई चल अचल संपत्तियों का ब्योरा, जमीन के कागजात, बैंक खातों से संबंधित कागजात, गिरोह के सदस्यों के वाहनों से संबंधित दस्तावेज के साथ-साथ कई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बरामद किए गए हैं. सभी बरामद कागजातों को जब्त किया है, जिसकी जांच की जा रही है.

झारखंड के संगठित आपराधिक गिरोहों के खिलाफ ठोस कार्रवाई करने और इन गिरोहों के फंडिंग, आर्थिक स्रोतों, हवाला चैनल के साथ-साथ इनके द्वारा खौफ द्वारा अर्जित किए गए. संपत्ति का पता लगाने का काम झारखंड एटीएस को दिया गया है.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *