पुलिस करेगी छठ में बंद घरों की निगरानी, राजधानी को 6 जोन में बांटकर की जा रही सुरक्षा

रांची। छठ पूजा में आज शाम डूबते सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। वहीं, सोमवार को सुबह 5.54 बजे से उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा. छठ पूजा को लेकर कई लोग बिहार-यूपी और झारखंड के अन्य जिलों में अपने परिवार के साथ त्योहार मनाने गए हैं. त्योहार के दौरान कई बार रांची में चोरी की घटना पहले भी हो चुकी है. ऐसे में पुलिस ने इस बार चोरों पर नकेल कसने के लिए पूरी तैयारी कर ली है. रांची पुलिस ने 19 थाना क्षेत्र के दो दर्जन से अधिक क्षेत्रों को चिह्नित किया है. ये वो इलाके हैं जहां छठ के दौरान पहले भी चोरी हो चुकी है। चोरों को बंद घरों को निशाना बनाने से रोकने के लिए पुलिस अधिकारियों और बाइक दस्तों को विशेष रूप से प्रतिनियुक्त किया गया है। सभी प्रतिनियुक्त अधिकारियों से कहा गया है कि वे हर घंटे अपनी लोकेशन की जानकारी कंट्रोल रूम को देंगे. साफ है कि इस बार रांची जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन पूरी तरह सक्रिय है ताकि बंद घरों में चोरी की घटना न हो.

शहर को 6 जोन में बांटकर सुरक्षा
की जा रही है । छठ महापर्व के चलते रांची को छठ जोन में बांटकर सुरक्षा की जा रही है. कहीं पांच-छह तो कहीं एक-एक जोन में दो-दो थाने रखे गए हैं. प्रत्येक जोन के लिए एक मजिस्ट्रेट, एक डीएसपी और लाठीबल की प्रतिनियुक्ति की गई है। यह टीम अपने-अपने क्षेत्रों का दौरा कर निगरानी करेगी। वहीं, शहर के 60 तालाब-छठ घाटों पर मजिस्ट्रेट, पुलिस अधिकारी और पुलिस बल की स्थैतिक प्रतिनियुक्ति की गई है.

किस जोन में किस थाना को रखा गया

  1. कोतवाली थाना, सुखदेवनगर थाना, दैनिक बाजार थाना, हिंदपीढ़ी थाना, पंडारा ओपी
  2. चुटिया थाना, निचला बाजार थाना, लालपुर थाना
  3. सदर थाना, बरियातू पुलिस थाना, गोंडा थाना, खोलगांव ओपी और मेसरा ओपी
  4. जगरनाथपुर थाना, अरगोड़ा थाना, डोरंडा थाना, धुरवा थाना, तुपुदाना और पुंडाग थाना
  5. कांके थाना, नामकुम थाना, तातिसिल्वे थाना, खरसीदाग एवं पिथौरिया थाना
  6. रातू थाना एवं नागडी थाना

15 थाना क्षेत्र के दर्जनों मार्ग को माना गया संवेदनशील

शहर के 15 थाना क्षेत्र के दर्जनों संवेदनशील इलाकों में छठ पर्व के दौरान पुलिस विशेष रूप से नजर रख रही है। इसके लिए थानावार अतिरिक्त पुलिस पदाधिकारी व 3-3 मोटरसाइकिल दस्ता की तैनाती की गई है। दरअसल छठ घाट तक जाने वाले इन मार्गों में तैनात पुलिस पदाधिकारी व गश्ती मोटरसाइकिल दस्ता की जिम्मेवारी होगी कि वे लगातार इन मार्गों पर गश्ती करते रहें। बताते चलें कि गोंदा थाना, बरियातू थाना, सदर थाना, जगरनाथपुर थाना, अरगोड़ा थाना, धुर्वा थाना, डोरंडा थाना, हिंदपीढ़ी थाना, सुखदेवनगर थाना, कोतवाली थाना, पंडरा ओपी, डेली मार्केट थाना, चुटिया थाना, लालपुर थाना और लोअर बाजार थाना के छठ मार्ग जाने वाले दो दर्जन से अधिक मार्गों को संवेदनशील मार्ग माना गया है।

छठ घाट के आसपास तैराकी जानने वाले जवानों की विशेष तैनाती की गई है, खासकर उन जवानों को जो तैरना जानते हैं, प्रतिनियुक्त किया गया है. इस संबंध में डीसी राहुल सिन्हा और एसएसपी किशोर कौशल के निर्देश पर आपात स्थिति से निपटने के लिए ऐसे जवानों को तैनात किया गया है, जिनसे आपात स्थिति में मदद ली जा सके. इसके अलावा प्रमुख तालाबों और घाटों में गोताखोरों के साथ नावों की भी व्यवस्था की गई है. दरअसल, जिला प्रशासन का मानना ​​है कि नदी और तालाब में नहाते समय बच्चे, महिलाएं और पुरुष अक्सर गहरे पानी में चले जाते हैं. ऐसे में तैराकी जानने वाले जवानों की तैनाती से जान-माल के नुकसान को रोका जा सकता है.

5 तालाब-बांधों में क्यूआरटी तैनात

विशेष रूप से शहर के पांच प्रमुख तालाबों और बांधों में क्यूआरटी (क्विक रिस्पांस टीम) को तैनात किया गया है। इसके तहत बड़ा तालाब, चदरी तालाब, धुर्वा बांध, हटियां तालाब और कांके बांध में क्यूआरटी तैनात किए गए हैं। इसके तहत अतिरिक्त मजिस्ट्रेट, पुलिस अधिकारी और पुलिस बल को तैनात किया गया है।

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *