मनरेगा: अगस्त माह में झारखंड के 23 ग्राम पंचायतों में एक भी मजदूरों को नहीं मिला काम

रांची। मनरेगा योजना के तहत झारखंड के 23 ग्राम पंचायतों ने अगस्त में शून्य मानव दिवस का सृजन किया है. यानि इन पंचायतों में एक भी मनरेगा मजदूरों को इस माह के दौरान रोजगार उपलब्ध नहीं कराया गया है. नौ जिलों के अंतर्गत इन पंचायतों को चिंह्नित किया गया है. इनमें देवघर,दुमका जिला में ग्राम पंचायतें हैं. जिलों से सारी स्थिति की रिपोर्ट ग्रामीण विकास को भी दी गयी है. पूरे मामले पर विभाग ने गंभीरता से लिया है और रोजगार सृजन के लिए अविलंब कार्रवाई करने को कहा है. मानव दिवस सृजन नहीं किए जाने पर दोषियों को चिंहित्त कर कार्रवाई का भी निर्देश दिया है. बता दें कि,मनरेगा योजना से हर हाल में मनरेगा से निबंधित मजदूरों को कम से कम 100 दिन का रोजगार उपलब्ध कराना है,लेकिन हालात यह है कि 23 पंचायतों में शून्य मानव दिवस सृजन किया गया है.

इन ग्राम पंचायतों में शून्य मानव दिवस सृजन

पाकुड़- बासमती,जयकिस्टोपुर उर्र्फ नारायणखोर,कालिदासपुर.

रामगढ़-गोला,पुंडी,कटिया,बस्ती.

साहिबगंज-उत्तर पलासगछी,पूर्वी अथवा समसपुर.

देवघर-चित्रा,सारठ,मटियाला,तिलवानी,मदमा,चैता.

दुमका-सालजोरा,सिमनीजोर,बांसपहाड़ी,दुधानी.

पश्चिम सिंहभूम-जग्गनाथपुर,छोटा,नागढ़ा.

पलामू-नौडिहा.

हजारीबाग-बरकठ साउथ,सिरब,पासाई.

गुमला-जयरागी,जुर्मू.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *