प्रखण्ड क्षेत्र के अधिकांश जलमीनार खराब पेयजल संकट उत्पन्न

सेन्हा। सेन्हा प्रखंड क्षेत्र में लगभग सभी जगहों पर नदी और तालाब सुखना आरम्भ हो गया है। वही कुँआ का पानी गन्दा होने के कारण पीने योग्य पानी नही है। प्रखंड क्षेत्र अन्तर्गत पंचायतों में लगे अधिकांश जलमिनार कई महीनों से खराब पड़ा हुआ हैं। जिसे मरमत कराने के लिये कोई पहल नही होने से लोगो के समक्ष पेयजल संकट का घोर समस्या है। यह दृश्य भड़गाँव, अलौदी, बुटी, मुर्की, अरुउगरा, सेरेंगहातु, झालजमीरा सेन्हा, बदला, डाँडू पंचायत जो विभिन्न गांव में कहीं साल भर से तो कही छः माह से जलमिनार खराब है। वही गाँव में जलमिनार खराब होने से ग्रामीण लोग पानी के लिए भाग दौड़ करने पर विवश हैं। भड़गाँव पंचायत के बिसहाटोली और भंगाड़ी में पूर्व मुखिया द्वारा बनवाया गया, जलमीनार और चापानल लगभग छः माह से खराब है। बुटी पंचायत के झखरा ग्राम में साल भर से जलमीनार खराब पड़ा हुआ है। अलौदी पंचायत अन्तर्गत उरु तेतरटोली में आंगनबाड़ी के समीप साल भर से जलमीनार खराब जिसे छोटे छोटे बच्चों के अलावे ग्रामीण नदी का पानी पी कर प्यास बुझाने को मजबूर हैं। साथ ही प्रखंड क्षेत्र के अन्य पंचायतों में भी जलमीनार खराब पड़ा हुआ है। जलमीनार खराब होने का शिकायत ग्रामीणों द्वारा कई बार पंचायत के जनप्रतिनिधियों को और पेयजल स्वच्छता विभाग को मौखिक और लिखित तौर पर दिया गया। परंतु विभागीय कोई पहल नही किया गया। पेयजल का समस्या जस का तस बना हुआ है। सरकार द्वारा हर घर नल जल कनेक्शन दिया जा रहा है। परंतु वह भी बेकार साबित हो रहा है। प्रखंड क्षेत्र के मुर्की तोड़ार पंचायत अन्तर्गत बाजार डाँडू, करजंटोली धौठा टोली में लगया गया नल जल का बोरिंग से मात्र 15 से 20 मिनट ही पानी निकलता है। जिससे ग्रामीणों को पानी के लिए काफी परेशानी होती है। वही गर्मी प्रारम्भ होते ही प्रखंड क्षेत्र के लगभग सभी पंचायतो में पेयजल का घोर समस्या का आसार होने का अनुमान लगाया जा रहा है।

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *