साहिबगंज ( बोरियो ) । झारखंड के साहिबगंज जिला मुख्यालय से करीब 35 किलोमीटर दूर तेलो गांव के बथान टोला के पास शनिवार-रविवार की रात करीब दो बचे एक मालगाड़ी हादसे की शिकार हो गई। कोयला लोड मालगाड़ी पश्चिम बंगाल में फरक्का स्थित NTPC के प्लांट जा रही थी। साहिबगंज जिले के  बोरियो थाना क्षेत्र के तेलो गांव बथान टोला के पास पटरी से उतर गई। सात डिब्बे पलट गए। कोयले जमीन पर बिखर गए। घटना के बाद ललमटिया-फरक्का लाइन पर कोयले की ढुलाई बंद हो गई। इस घटना से एनटीपीसी को करोड़ों रुपये का नुकसान हुआ है। ईसीएल के ललमटिया प्रोजेक्ट से बड़े NTPC के फरक्का और कहलगांव बिजली प्लांट में कोयले की आपूर्ति होती है। मालगाड़ी कोयले लेकर फरक्का जा रही थी। रविवार तड़के करीब दो बजे जोरदार आवाज के साथ तेलो गांव के पास पटरी से उतर गई। सात डिब्बे पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए हैं। कोयला चारों तरफ बिखरा पड़ा है। रेल ट्रैक भी उखड़ गया है। इससे रेलवे और एनटीपीसी को करोडों का नुकसान हुआ है। इस लाइन से एनटीपीसी में कोयले की आपूर्ति ठप हो गई है। हादसा के कारणों का अब तक पता नहीं चल पाया है। घटना की सूचना मिलने के बाद पूर्व रेलवे और एनटीपीसी के अधिकारी-कर्मचारी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। लाइन को क्लियर करने का प्रयास किया जा रहा है। ताकि एनटीपीसी को कोयले की आपूर्ति बहाल की जा सके। इस रेल लाइन के बाधित होने की स्थिति में एनटीपीसी के फरक्का और कहलगांव पावर प्लांट में बिजली उत्पादन प्रभावित हो सकता है। घटना स्थल पर आसपास के इलाके के सैकड़ों लोगों का जमावड़ा लगा है। इस लाइन से केवल कोयले की ही ढुलाई होती है। एनटीपीसी की यह लाइन है। करीब तीन साल पहले गोड्डा जिले की सीमा में भी इस प्रकार का हादसा हुआ था। कई दिनों तक कोयले की ढुलाई ठप रही थी।