हजारीबाग । एक ओर जहां दिव्यांगजनों के प्रति समाज में सहानुभूति के साथ सम्मान का भाव देखा जाता है वहीं वर्तमान समय में भी समाज के कुछ मानसिक विकृति के लोग अपने स्वार्थ की पूर्ति के लिए इन लाचार, बेबस और कमजोर तबके के लोगों पर जुल्म ढाना नहीं छोड़ते। ऐसा ही एक मामला सोमवार को तब उजागर हुआ जब अपनी फरियाद लेकर हजारीबाग सदर विधायक मनीष जायसवाल के विधायक कार्यालय में सदर प्रखंड स्थित हुटपा पंचायत की अपंग दिव्यांग महिला मालती देवी पंहुची और अपनी असहनीय दुखभरी दास्तां विधायक मनीष जायसवाल को सुनाई। स्व.रामेश्वर यादव की दिव्यांग पुत्री मालती देवी ने विधायक जायसवाल को बताया की हरतालिका तीज के दिन यानी 9 सितंबर 2021 के रात्रि को जब हुए घर के बगल में पूजा- अर्चना करके गई थी तभी मौके का फ़ायदा उठाकर अज्ञात चोरों ने उनके घर के सभी ज़रूरी समान चुरा लिए। जिसके बाद उनके पास कुछ नहीं बचा है। यह कहते हुए कमर के नीचे से अपंग इस दिव्यांग बहन की आंखें भर आईं। इनकी दुखभरी दास्तां सुन विधायक मनीष जायसवाल की आंखें भी डबडबा गई और समाज के ऐसे विकृत मानसिकता के लोगों द्वारा किए गए इस कुकृत्य की उन्होंने घोर निंदा की। विधायक मनीष जायसवाल ने इस दिव्यांग बहन के प्रति सहानुभूति दिखाते हुए तत्काल उन्होंने अपनी और से घरेलू उपयोग में आने वाले ग्लास और स्टील के बर्तन, कपड़ा और आर्थिक सहयोग प्रदान कर सहायता की एवं भविष्य में भी जरूरत पर एक भाई के रूप में सहयोग हेतु खड़े रहने की बात कही। भुक्तभोगी दिव्यांग महिला को उनके मित्र वीणा देवी ने यहां तक पहुंचाया। विधायक मनीष जायसवाल द्वारा किए गए इस सहयोग के लिए वीणा देवी और भुक्तभोगी दिव्यांग मालती कुमारी ने आभार जताया और धन्यवाद दिया ।