गुमला | नेहरू युवा केंद्र संगठन गुमला के द्वारा 14 सितंबर को हिंदी दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक चेतन केशरी की अगुवाई में गुरुकुल संस्थान गुमला में हिंदी संगोष्ठी सह निबंध लेखन प्रतियोगिता कराया गया ।निबंध लेखन “गुमला के गुमनाम नायक” , “आत्मनिर्भर भारत” एवं “स्वच्छ एवं हरा भरा गांव ” विषय में कराया गया।
मुख्य अतिथि के रूप में गुरुकुल संस्थान के डायरेक्टर रविन्द्र सिन्हा उपस्थित रहें । उन्होंने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि
अपनी मातृभाषा पर गर्व करना हर भारतीय का परम दायित्व होना चाहिए।आज हमारे देश के हर क्षेत्र में अंग्रेजी भाषा को लोग ज्यादा महत्व देने में लगे है जो कहीं न कहीं हमारे देश की मातृभाषा हिंदी को गहरा आघात पहुंचाने का कार्य कर रहें हैं।आज के समय में पश्चिमी सभ्यता के प्रभाव में आकर लोग अपनी सभ्यता और संस्कृति को भूलते चले जा रहे है।उन्होंने उपस्थित विद्यार्थियों से कहा कि हमारा देश युवाओं का देश है और हम सभी युवाओं का यह कर्तव्य बनता है कि हम अपनी मातृभाषा का संरक्षण और विकास हेतु कार्य करें उन्होंने उपस्थित विद्यार्थियों को यह आवाह्न किया कि हिंदी भाषा देश का गौरव है अतः युवा सदा इसके ज्यादा से ज्यादा प्रयोग को बढ़ावा देकर सदा देश की उन्नति और खुशहाली के बारे में चिंतनशील रहे और भारत माँ की सेवा में हमेशा तत्पर रहने का प्रयास करें।
प्रतियोगिता में प्रथम हेमा कुमारी , द्वितीय अनिल साहू , तृतीय सुरभी कुमारी हुई । सभी विजेता प्रतिभागियों को प्रशस्ति पत्र , मेडल एवं पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया । साथ ही सभी भाग लेने वाले प्रतिभागियों को पुस्तक एवं कलम देकर सम्मानित किया गया। मौके पर राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक चेतन केशरी ,संस्थान के शिक्षक अंकित भगत, अनुपा कुमारी ,मनमोहन प्रसाद ,निलेश कुमार , मनोहर भगत सहित अन्य लोग उपस्थित थें।