लोहरदगा l लोहरदगा शहर कहने को तो काफी छोटा शहर है, परंतु यहां पर वाहनों की रफ्तार और वाहनों की संख्या राज्य के किसी भी शहर से कम नहीं है। लोहरदगा में यातायात की समस्या गंभीर होती जा रही है। लोहरदगा में हर दिन सड़क जाम लगता है। इस जाम में फंसकर आम जिदगी थम सी जाती है। शहर के मुख्य पथ से लेकर न्यू रोड में हर दिन कई घंटे तक सड़क जाम लगता रहता है। सबसे महत्वपूर्ण बात है कि यहां पर बाईपास सड़क का निर्माण अब तक नहीं हो सका है। जिससे हर दिन सड़क जाम लगता रहता है। आज भी पुरानी व्यवस्था के तहत शहर की यातायात व्यवस्था चल रही है। शहर के पावरगंज चौक, न्यू रोड़, वीर शिवाजी चौक, बरवाटोली चौक, ईस्ट गोला रोड़, मिशन चौक, महावीर चौक, अपर बाजार, गुदरी बाजार, शास्त्री चौक, थाना मोड़, बड़ा तालाब, सोमवार बाजार आदि स्थानों में हर दिन सड़क जाम देखने को मिलता है। अपने काम से घर से निकलने वाले लोग हर दिन सड़क जाम से कई घंटे अपना बर्बाद कर देते हैं। सड़क जाम की स्थिति से लोगों को निजात नहीं मिल रहा है। हालांकि सड़क जाम की स्थिति को लेकर डीसी दिलीप कुमार टोप्पो ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को ज्ञापन सौंपते हुए बाईपास सड़क निर्माण की मांग भी की है। डीसी ने वर्तमान स्थिति से सीएम को अवगत कराया है। डीसी ने कहा है कि लोहरदगा शहर का इतिहास रांची शहर से भी पुराना है। लोहरदगा में यातायात के लिए जो व्यवस्था पूर्व से थी वह अब भी बरकरार है। अब जिला बनने एवं आबादी बढ़ने के कारण यह व्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हुई है। शहर के बीच से घाघरा, कुडू जाने का रास्ता गुजरता है। जिसमें काफी बड़े वाहन चलते हैं। साथ ही लोहरदगा शहरी क्षेत्र से होकर हिडाल्को कंपनी के बगडू, सेरेंगदाग माइंस के बाक्साइड से लदे वाहन काफी संख्या में गुजरते हैं। जिससे प्राय: शहरी क्षेत्र में जाम की स्थिति एवं दुर्घटना की संभावना बनी रहती है। इससे आम नागरिकों को आवागमन में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। इस स्थिति से निपटने के लिए बाईपास रोड की नितांत आवश्यकता है।