: शत-प्रतिशत विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति का लाभ दिलाएं- उपायुक्त

: सभी लंबित योजनाओं को करें पूर्ण- उप विकास आयुक्त

गुमला | उपायुक्त गुमला शिशिर कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में शिक्षा, ग्रामीण विकास एवं कल्याण विभाग द्वारा गुमला जिलांतर्गत संचालित योजनाओं के तहत किए जाने वाले कार्यों की समीक्षा हेतु बैठक नगर भवन में की गई।

बैठक को संबोधित करते हुए उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा ने कहा कि आज हिंदी दिवस के अवसर पर जिले के सभी उच्च विद्यालयों के प्रधानाध्यापक एवं शिक्षक सहित कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को हिंदी दिवस की शुभकामनाएं एवं बधाई। उन्होंने कहा कि शिक्षा के माध्यम से ही सरकारी योजनाओं के संबंध में जागरूकता लाई जा सकती है। आज सरकार एवं जिला प्रशासन के द्वारा शैक्षणिक गतिविधियों के माध्यम से विद्यार्थियों के लिए कई कल्याणकारी कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है। जहाँ एक ओर कल्याण विभाग द्वारा विद्यार्थियों के बीच छात्रवृत्ति का वितरण, चयनित विद्यालयों में नीति आयोग के सूचक के तहत योजना कार्यालय के माध्यम से साईंस लैब, आधुनिक प्रयोगशाला, पुस्तकालय एवं स्मार्ट क्लास की व्यवस्था की जा रही है। साथ ही सरकारी विद्यालयों के आठवीं कक्षा में अद्यययनरत छात्राओं के बीच साईकिल वितरण का कार्यक्रम कल्याण विभाग द्वारा संचालित किया जा रहा है। विद्यालयों में मध्याह्न भोजन, क्रीमिनाशक अल्बेंडाजोल दवा का वितरण, छात्राओं के बीच आयरन की गोली तथा सैनेटरी नैपकिन वितरण की व्यवस्था की गई है। जानकारी के अभाव में विद्यार्थी एवं छात्र-छात्राएं योजनाओं का शत-प्रतिशत लाभ नहीं ले पाते हैं। प्रायः विद्यालयों के निरीक्षण के दौरान लिद्यालय परिसर में साफ-सफाई का अभाव देखा जाता है। विद्यालयों में गुणात्मक शिक्षा के साथ ही पौष्टिक मध्याह्न भोजन एवं स्वच्छता तथा शुद्ध पेयजल की व्यवस्था अनिवार्य रूप से होनी चाहिए। इसके लिए शिक्षा विभाग को संबंधित विभागों के साथ समन्वय स्थापित करने की आवश्यकता है।

बैठक में उपायुक्त ने छात्रवृत्ति योजना की अद्यतन स्थिति की समीक्षा की। परियोजना निदेशक आईटीडीए इंदु गुप्ता ने छात्रवृत्ति योजना की अद्यतन स्थिति की जानकारी साझा करते हुए बताया कि विगत वित्तीय वर्ष कल्याण विभाग द्वारा 81435 विद्यार्थियों का छात्रवृत्ति हेतु डाटा प्रविष्टि किया गया था। कितुं इनमें से केवल 47438 विद्यार्थियों को ही छात्रवृत्ति का भुगतान किया गया था। वहीं शेष 33995 विद्यार्थियों के आधार कार्ड बैंक खातों से लिंक नहीं होने के कारण व आधार कार्ड के एमपीसीआई मैपिंग नहीं होने के कारण छात्रवृत्ति का लाभ नहीं दिया जा सका था। इसपर उपायुक्त ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्रांतर्गत सभी बैंकों के शाखा प्रबंधकों के साथ बैठक कर उन्हें विद्यार्थियों के आधार कार्ड बैंक खातों के साथ लिंक एवं आधार कार्ड के एमपीसीआई मैपिंग अनिवार्य रूप से सुनिश्चित करने का निर्देश दिया, ताकि शत-प्रतिशत विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति का लाभ दिया जा सके। वहीं अद्यतन स्थिति की जानकारी साझा करते हुए परियोजना निदेशक आईटीडीए ने बताया कि वर्तमान में 33997 विद्यार्थियों में से 1013 विद्यार्थियों का आधार बैंक खातों से लिंक कर दिया गया है व शेष 32984 विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति से आच्छादित किया जाना बाकी है। इसपर उपायुक्त ने विद्यार्थियों के आधार लिंकेज का कार्य समय पर पूर्ण करते हुए उन्हें छात्रवृत्ति का लाभ दिलाने पर जोर दिया।

उप विकास आयुक्त संजय बिहारी अंबष्ठ ने वित्तीय वर्ष 2019-21 के पूर्व की कुल 8816 लंबित योजनाओं को यथाशीघ्र पूर्ण करने का निर्देश दिया। उन्होंने कुछ प्रखंडों द्वारा मनरेगा योजनांतर्गत पीडी जेनरेशन की धीमी गति पर असंतोष व्यक्त करते हुए संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारियों को स्थिति में सुधार लाने का निर्देश दिया। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण योजनांतर्गत वित्तीय वर्ष 2016 से 21 में स्वीकृति के विरूद्ध कुल 10594 आवासों का कार्य लंबित है। वहीं बाबा साहेब भीमराव अम्बेदकर आवास योजना अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2016-21 तक 243 आवासों का कार्य लंबित है। इसपर उप विकास आयुक्त ने सभी लंबित योजनाओं को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण करने का निर्देश दिया।

बैठक में जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा 01 से 30 सितंबर तक चलने वाले पोषण अभियान अंतर्गत पोषण माह के दौरान सभी विद्यालयों में पोषण जागरूकता कार्यक्रमों यथा पोषण रैली, पोषण क्विज प्रतियोगिता आदि कार्यक्रमों के माध्यम से छात्र-छात्राओं को पोषण के विषय में जागरूक कराने की जानकारी दी गई। साथ ही उन्होंने आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत सभी विद्यालयों में सरकार द्वारा निर्धारित कैलेण्डर के आधार पर प्रतिमाह विविध कार्यक्रमों का आयोजन किए जाने पर विशेष जोर दिया।

बैठक में मंच संचालन करते हुए जिला जनसंपर्क पदाधिकारी देवेंद्रनाथ भादुड़ी ने कहा कि भारत सरकार द्वारा आजादी के 75वें वर्षगाँठ को “आजादी का अमृत महोत्सव” के रूप में घोषित किया गया है। इसके लिए मार्च 2021 से पूरे देश में कई तरह के कार्यक्रम आयोजित कर लोगों को स्वतंत्रता संग्राम के प्रमुख आंदोलनों तथा देश की आजादी के लिए किए गए कार्यों को प्रदर्शित-प्रकाशित किया जा रहा है। राज्य सरकार द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के लिए वार्षिक कैलेण्डर जारी कर विद्यालयों एवं शैक्षणिक संस्थानों में विभिन्न महापुरूषों की जयंती के अवसर पर भाषण, कविता, चित्रांकण, फैन्सी ड्रेस, क्विज प्रतियोगिता के आयोजन का निर्देश दिया गया है। सभी विद्यालय निर्धारित तिथियों में निर्धारित विषय पर कार्यक्रम का आयोजन कर विद्यार्थियों के बीच आजादी की लड़ाई एवं देश की उपलब्धियों को समय-समय पर प्रचारित एवं प्रसारित करेंगे। उन्होंने जिला प्रशासन की ओर से सभी उपस्थित पदाधिकारियों, शिक्षक-शिक्षिकाओं, कर्मियों एवं उपस्थित लोगों को हिंदी दिवस की शुभकामनाएं देते हुए “मेरा-तेरा स्वाभिमान है हिंदी, हर भारतीय का मान है हिंदी, विश्व पटल पर भाती है शैली, हम सभी का अभिमान है हिंदी” के कविता को सस्वर पाठ करते हुए कार्यक्रम का समापन किया ।
बैठक में उपायुक्त सहित परियोजना निदेशक आईटीडीए इंदु गुप्ता, उप विकास आयुक्त संजय बिहारी अंबष्ठ, सदर अनुमंडल पदाधिकारी रवि आनंद, अनुमंडल पदाधिकारी चैनपुर प्रीति लता किस्कू, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी देवेंद्रनाथ भादुड़ी, जिला शिक्षा पदाधिकारी सह जिला शिक्षा अधीक्षक सुरेंद्र पाण्डेय, जिला पंचायत राज पदाधिकारी मोनिका रानी टूटी, एडीपीओ विभूति नारायाण सिंह, डीपीएम जिला पंचायत शाखा शशि किरण मिंज, डीस्ट्रिक्ट प्रोजेक्ट कॉर्डिनेटर यूनिसेफ अपूर्वा सेन, एसएमपीओ रेचल जोजोवार, प्रखंड विकास पदाधिकारी/ अंचलाधिकारी गुमला/ घाघरा/ बिशुनपुर/ रायडीह/ सिसई/ भरनो/ कामडारा/ बसिया/ पालकोट, सभी विद्यालयों के प्रधानाध्यापक व अन्य उपस्थित थे।