साहिबगंज। भारतीय स्टेट बैंक ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान साहिबगंज के माध्यम से 13 दिवसीय कॉस्टयूम ज्वेलरी उद्यमी प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक सुधीर कुमार,आरसीटी निदेशक वीरेंद्र कुमार मांझी नाबार्ड के डीडीएम स्टेट बैंक के चीफ मैनेजर राजेश कुमार एवं आजीविका सखी मंडल के डीपीएम संतोष कुमार डीएम स्केल राजेंद्र कुमार एवं एसेसमेंट एवं सर्टिफिकेशन के कल्याण प्रसाद श्रीवास्तव ने सभी प्रशिक्षकों को प्रमाण पत्र देकर उनके उज्जवल भविष्य की कामना किए इस 13 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के संयोजक राजहंस कुमार ने प्रशिक्षुओं को सफल उद्यमी बनने के सारे गुण बताएं जिसमें उद्यमी की दक्षता, बाजार सर्वेक्षण,समय प्रबंधन, समस्याओं का समाधान,योजना प्रारूप तथा बैंकों के विभिन्न योजनाओं के बारे में जैसे प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम,प्रधानमंत्री मुद्रा योजना,अटल पेंशन योजना,सुरक्षा बीमा योजना के बारे में बताया एवं महिला प्रशिक्षक के रूप में सीता साहा सभी प्रशिक्षुओं को कॉस्टयूम ज्वेलरी जिसमें लाह की चूड़ी, ईयररिंग,गले का सेट इत्यादि बनाने को बताया ताकि महिलाएं घर में रहकर अपने काम करते हुए स्वरोजगारी बन सके।मौके पर आरसीटी के वरिष्ठ संकाय राजहंस कुमार,संकाय राजीव कुमार ,कार्यालय सहायक अमरे आनंद एवं कार्यालय अटेंडर नीरज कुमार शर्मा उपस्थित थे इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में कुल महिला प्रतिभागी जोकि मनरेगा के तहत एक सौ दिनों तक काम की थी उन्हीं लोगों को आरसीटी स्टील ट्रेडिंग दे कर उन्हें मजदूर न रहकर एक हुनरमंद स्वरोजगारी नारी बनाने का कार्य किया जाने का कार्य क्या गया।