साहिबगंज। समाहरणालय स्थित सभागार में उपायुक्त रामनिवास यादव की अध्यक्षता में संबंधित विभाग के पदाधिकारियों के साथ कृषि पशुपालन एवं सहकारिता विभाग के कार्यों की समीक्षा बैठक आयोजित की गई।

इस दौरान उपायुक्त द्वारा सहकारिता विभाग के कार्यों की समीक्षा की गई जिसमें उन्होंने सर्वप्रथम वर्ष 2020 21 में किसानों के बीच अनुमानित दर पर धान के बीज उठाव एवं वितरण से संबंधित प्रगति की जानकारी ली जिसमें बताया गया कि, 3227 किसानों के बीच उठाव किए गए 1050 क्विंटल धान के बीज का पूर्ण वितरण किया जा चुका है।
इस बीच उपायुक्त श्री यादव ने वर्ष 2020-21 में लैंप्स द्वारा किसानों से हुए धान अधिप्राप्ति की समीक्षा की जिसमें बताया गया कि ज़िले में धान अधिप्राप्ति का लक्ष्य 55000 क्विंटल रखा गया था, जिसके आलोक में अभी तक 47469.91 क्विंटल धान अधिप्राप्ति पूर्ण कर ली गई है,साथ ही 41156.85क्विंटल धान मिल में भेजा जा चुका है। इसी संबंध में उपायुक्त ने संबंधित पदाधिकारी को शेष बचे हुए धान को तत्काल मील में भेजने एवं धान अधिप्राप्ति के लक्ष्य को पूर्ण रूप से हासिल करने का निर्देश दिया।
इसके अलावा उपायुक्त ने लोहंडा में बन रहे शीत गृह की अद्यतन स्थिति की जानकारी लेते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए जिसमें बताया गया कि 60% सिविल कार्य हो चुका है। बैठक में
पशुपालन विभाग की समीक्षा करते हुए बताया गया कि मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना के तहत 02, 05 एवं 10 गायों की योजना के लिए समाचार पत्रों के माध्यम से विज्ञापन का प्रकाशन कर दिया गया है। गव्य विकास पदाधिकारी ने बताया कि उक्त योजना के लिए ग्राम सभा बुलाकर इच्छुक किसान एवं पशुपालकों के बीच आवेदन पत्र वितरित किया जा रहा है।
इस बीच प्रगतिशील डेयरी कृषको की सहायता हेतु विभिन्न योजना अंतर्गत मिल्किंग मशीन पनीर एवं खोवा मेकिंग यूनिट, वर्मी कंपोस्ट यूनिट आदि हेतु समाचार पत्रों के माध्यम से विज्ञापन प्रकाशित किया जा चुका है एवं इच्छुक किसानों के बीच आवेदन पत्र वितरित किया जा रहा है।
इसके अलावे उपायुक्त द्वारा बी0एम0सी (बल्क मिल्क कुलर) जानकारी ली गई, जिसमें बताया गया कि 10 बीएमसी में 2 बीएमसी बनकर तैयार हो चुके हैं एवं बचे हुए बीएमसी के लिए जगह चिन्हित करने का निर्देश दिया गया।
इस बीच भूमि संरक्षण विभाग द्वारा क्रियान्वित की जा रही योजनाओं की समीक्षा करते हुए उन्होंने यांत्रिकीकरण प्रोत्साहन की योजना, सरकारी/निजी तालाबों की योजना, जल निधि योजना अंतर्गत परकोलेशन टैंक का निर्माण,
जल निधि योजना अंतर्गत डीप बोरिंग का निर्माण की जानकारी ली ।
कृषि विभाग की समीक्षा करते हुए उपायुक्त रामनिवास यादव ने खरीफ वर्ष 2021-22 हेतु फ़सलवार एवं प्रखंड वार लक्ष्य एवं आच्छादन से संबंधित जानकारी ली।
जिसके तहत बताया गया कि उक्त वित्तीय वर्ष के अनुरूप 49000 हेक्टेयर धान के विरुद्ध 48678 हेक्टेयर धान का आच्छादन हुआ है।
इसके अलावा भी उपायुक्त ने जिला कृषि पदाधिकारी से वर्षा पात की जानकारी लेते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए।
साथ ही एलडीएम साहिबगंज से केसीसी के प्रगति की समीक्षा करते हुए सभी को संबंध में स्थापित करते हुए ज्यादा से ज्यादा किसानों को केसीसी का लाभ दिलाने का निर्देश दिया गया।बैठक के दौरान उपायुक्त अलावे उप विकास आयुक्त प्रभात कुमार बरदियार, एलडीएम साहिबगंज, जिला कृषि पदाधिकारी, जिला पशुपालन एवं गव्य विकास पदाधिकारी, जिला मत्स्य पदाधिकारी, जिला सहकारिता पदाधिकारी एवं अन्य उपस्थित थे।