रांची । दुर्गा पूजा हिंदू समाज की आस्था का महापर्व है। वर्ष भर से लोग इस पूजा के लिए इंतजार करते हैं। और हेमंत सोरेन जी ने जो नया गाइडलाइन निकाला है, उस गाइडलाइन में मूर्ति तथा पंडाल संबंधी साज सज्जा पर कुछ प्रतिबंध लगाए गए हैं। हम हेमंत सोरेन जी से पूछना चाहते हैं जब कोरोना महामारी थी तब मुस्लिम समाज को खुश करने के लिए आपने ढील देने के नाम पर ईद के समय 3 दिन का अवकाश दिया था और जब हिंदू समाज का कोई पर्व त्यौहार आता है तो आपको कोरोना याद आ जाता है। हिंदू समाज के आत्मसम्मान को सोची समझी रणनीति के तहत चोट पहुंचाई जा रही है। आपकी इस प्रकार की दोगली नीति से संपूर्ण हिंदू समाज में आक्रोश है। एक तरफ मूर्ति की ऊंचाई 5 फीट तय करते हैं और दूसरी ओर बार एवं रेस्टोरेंट को 11:00 बजे तक खोलने की अनुमति देते हैं। क्या मूर्ति की ऊंचाई से और पंडालों की सजावट से कोरोना बढ़ेगा? हेमंत सरकार जब यह नियमावली लेकर आई तब तक अधिकतर जगह मूर्तिकारों ने मूर्ति का एडवांस पेमेंट भी ले लिया है और मूर्ति बन भी चुकी है। जब यह निर्णय 3 माह पहले लेना था आप 20 दिन पहले ले रहे हैं इससे कितने मूर्तिकारों को आर्थिक हानि होगी, इसकी भरपाई कौन करेगा। हेमंत सोरेन जी फादर और चादर के खेल में आप हिंदू समाज को अपमानित करने का काम कर रहे हैं। नहीं तो आप दुर्गा पूजा के साज सज्जा संबंधी गाइडलाइन को तत्काल रद्द कीजिए।