किस्को/लोहरदगा l जिले के किस्को प्रखंड के अंतर्गत पाखर यात्री शेड से सरनापाठ तक सड़क पर 3 से 4 फुट तक गड्ढे होने से स्थानीय ग्रामीण परेशान है। पाखर माइंस क्षेत्र से करोड़ो की मुनाफा कमाने वाली हिंडालको कम्पनी को इस ओर कोई ध्यान नही है केवल अपने मुनाफे से मतलब है जबकि इसी सड़क से रोजाना हिंडाल्को के अधिकारी औऱ बॉक्साइट ट्रक चालक परिचालन होती है। इसके बाद भी सड़क की दशा यह है तो इसी से अंदाजा लगाया जाएगा कि हिंडालको को विकास कार्य में कितना रूचि है। जबकि हिंडाल्को को मुनाफे में 40% विकास कार्य में खर्चा है। मामले पर हिंडालको के अधिकारियों से बात करने पर डीएमएफटी फंड में राशि दिए जाने की बात कह कर पल्ला झाड़ने लगे जबकि हकीकत यह है कि जिस समय हिंडालको को खुद खर्च करना था उस समय भी सड़क की दशा इस तरह थी। यहाँ पाखर सरना पाट से पाखर यात्री से सेड तक सड़क की स्थिति बद से बदतर हो गया है सड़क पर जल एंव कीचड़ जमाव होने के कारण दुपहिया वाहन तो दूर पैदल चलना भी मुश्किल है। यहाँ रोजाना सैकड़ों ग्रामीण किस्को प्रखंड जिला मुख्यालय एंव बाजार आवागमन करते हैं जिन्हें काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है ग्रामीणों ने बताया कि पूर्व में हिंडाल्को की ओर से जल्द ही पाखर सरना पाठ से यात्री सेड तक पीसीसी सड़क निर्माण करने की बात कही गई थी परंतु लिखित आवेदन देने के बाद भी सड़क अब तक नही बनी है