सुरक्षा व्यवस्था का लिया जायजा |

नन्हे फरिश्ते और माई सहेली नाम की, टीम का किया गठन |

रामगढ़ | दक्षिण पूर्व रेलवे के आईजी (मुख्य सुरक्षा आयुक्त) डी.बी.कसार रविवार को रामगढ़ रेलवे स्टेशन पहुचे। यहां उन्होंने स्टेशन का जायजा लिया। वही सुरक्षा को देखते हुए रेलवे के अन्य स्थलों की भी जांच पड़ताल की। इसके बाद उन्होंने जीपीएस पुलिस कमांडेंट रूपेश कुमार, आरपीएफ रामगढ़ ओपी प्रभारी वी के यादव, सहायक अवर निरीक्षक कृष्णा राय सहित अन्य आरपीएफ पुलिस बल के साथ एक बैठक की, बैठक के दौरान उन्होंने रेलवे के माध्यम से हो रही राज्य की महिलाओं और बच्चियों को बाहर बेचने वाले अवैध कारोबारियों को रोकने एव पकड़ने को लेकर महिला अधिकारियों एवं कांस्टेबलो की नन्हे फरिश्ते और माई सहेली नाम की 2 टीम गठित की।

क्या है इस टीम का काम

आईजी डी.बी.कसार ने बताया कि माई सहेली टीम का काम रेलवे स्टेशन में जो भी महिला या बच्ची अकेले यात्रा करती देखी जाती है। उन्हें यह टीम की महिला कांस्टेबल पर्सनली जा कर मिलती हैं, और अपना सरकारी नंबर भी देती है, ताकि जहा तक उस महिला यात्री की जर्नी है, वहां तक उन्हें पहुंचने में किसी प्रकार की कोई परेशानी होती है तो वह इस नंबर में फोन कर अपनी परेशानी बता सकती हैं, ताकि उस महिला या बच्ची की सहायता की जा सके। साथ ही महिला या बच्ची जिस स्टेसन पर होंगी वहा की जीपीआरएस पुलिस पहुच कर उस समस्या का निवारण करेगी।

नन्हे फरिश्ते टीम का काम

पूरे राज्य में हो रही बच्चियों को बाहर के राज्यो में बेचने के अवैध कारोबार को रोकने के लिए बनाया गया है। आईजी डी.बी.कसार ने कहा कि झारखंड में सिमडेगा, गुमला, पलामू, दुमका, पाकुड़ सहित अन्य जिलों की महिलाओं और बच्चियों को दूसरे राज्यों में काम करने के लिए ले जाती है, और वहां बेच दी जाती है। इसमें हमने कई सारे ट्रेफिकर को पकड़ा भी और कई सारे बच्चियों को रिलीज कर उनके माता पिता को सुपुर्द भी किया। उन्होंने बताया कि रांची डिवीजन में पिछले 1 महीने में 50 से अधिक बच्चियों को रिलीज किया गया है। कहा कि इस पूरी टीम में महिला इंस्पेक्टर, महिला सब इंस्पेक्टर एव महिला कॉन्स्टेबल है। जो कि राज्य के सभी रेलवे स्टेशन पर पैनी नजर रखेगी। अगर उन्हें किसी बच्ची पर संदेह हुआ तो तुरंत उसके दोषियों पर त्वरित कार्यवाही करते हुए, उस बच्ची को रिलीज करेंगी।

आईजी ने किया पौधारोपण

आईजी डी.बी.कसार ने निरीक्षण के उपरांत रेलवे स्टेशन के समीप पौधरोपण भी किया। उन्होंने कहा कि सभी को जीने के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है। और वह सिर्फ वृक्ष से ही प्राप्त होता है, इसलिए वृक्षारोपण करना हर इंसान के लिए बहुत जरूरी है।