पाकुड़ ( हिरणपुर )। कोरोना संक्रमण के दौरान लोगो की आर्थिक स्थिति जर्जर बन चुकी थी। जिसकारण ऋण की भुगतान में भी प्रतिकूल असर पड़ा है। इसको लेकर स्थाई लोक अदालत के माध्यम से ऋण सम्बन्धी समस्याओं का भी निदान किया जाएगा। सोमवार को डांगापाड़ा पंचायत भवन में जिला विधिक सेवा प्राधिकार के द्वारा आयोजित विधिक शिविर में स्थाई लोक अदालत सदस्य रीतू पांडे ने बताई। इस कार्यक्रम में काफी संख्या में लोग उपस्थित थे। सदस्य ने बताई की सरकार के द्वारा आमलोगों को स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराई जा रही है। इसकी जानकारी लोगो को होना आवश्यक है।शिक्षा के क्षेत्र में पाकुड़ जिला काफी पिछड़ा हुआ है। शिक्षा से ही सर्वांगीण विकास सम्भव है। इसलिए बच्चों को शिक्षा अवश्य दिलावे। पैनल अधिवक्ता राजीव झा ने कानून की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि सभी को सरकारी कार्यक्रमो का भी जानकारी होना आवश्यक है। जिससे कि लाभ लिया जा सके। जन्म -मृत्यु प्रमाणपत्र सम्बन्ध में भी विस्तृत जानकारी दी गई। वही चिकिसक डा. सौरभ विश्वास ने कहा कि संथाल क्षेत्र के पाकुड़ सहित गोड्डा , साहेबगंज कालाजार प्रभावित जिला है। अभी तक पाकुड़ जिले में 14 कालाजर मरीज मिले है। कालाजर की रोकथाम को लेकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा काफी प्रयास की जा रही है। जहाँ सम्बन्धित प्रभावित गाँवो में छिड़काव भी किया गया। वही मरीजो की सर्वे कर इलाज भी कराया जा रहा है। प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी राम कुमार साहा ने बताया कि कोविड वेक्सिनेशन का कार्य काफी तेजी से किया जा रहा है। सभी विभाग इस कार्य मे लगा हुआ है। कोरोना से सुरक्षित रखने को लेकर गाँव गाँव शिविर लगाया जा रहा है। 18 वर्ष के ऊपर के सभी लोग अवश्य वेक्सीन लगावे। इस मौके पर प्रखंड कृषि पदाधिकारी सूर्या मालतो , मुखिया शर्मिला हेम्ब्रम , पंचायत सचिव रितेश कुमार , उप मुखिया पवन रविदास , पप्पू अंसारी आदि उपस्थित थे।