रविन्द्र भवन में उक्त कार्यक्रम का शुभारंभ माननीय मंत्री श्री आलमगीर आलम, उपायुक्त, डीडीसी, आईटीडीए निर्देशक, एसी, एसडीओ, सांसद प्रतिनिधि, कांग्रेस जिला अध्यक्ष के द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर क़िया गया

विकास योजनाओं से आमजनों को लाभान्वित करना राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन की प्राथमिकताओं में से एक है:- उपायुक्त

उक्त कार्यक्रम में जिले के सुदूरवर्ती क्षेत्रों से आए हुए लाभुकों के बीच परिसंपत्तियों का वितरण किया गया

नगर भवन में आयोजित उक्त कार्यक्रम के उपलक्ष्य में परिसंपत्तियों का वितरण कई लाभुकों के बीच में किया गया।

पाकुड़। आजीविका संवर्धन हेतु महत्वाकांक्षी दो परियोजनाओं का शुभारंभ ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री माननीय श्री आलमगीर आलम ने किया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथियों द्वारा लाभुकों के बीच परिसंपत्तियों का वितरण किया गया। इस दौरान सुदूरवर्ती क्षेत्रों से आए हुए किसानों, सखी मंडल के दीदियों से माननीय मंत्री श्री आलमगीर आलम ने मुलाकात की एवं सभी का हौसला अफजाई किया। उक्त कार्यक्रम में जेएसएलपीएस, जिला समाज कल्याण, सामाजिक सुरक्षा, समेकित जनजाति विकास अभिकरण, जिला ग्रामीण विकास अभिकरण, अनुमंडल कार्यालय, श्रम विभाग एवं कृषि विभाग के द्वारा लाभुकों के बीच परिसंपत्तियों का वितरण किया गया।

इस कार्यक्रम में माननीय मंत्री श्री आलमगीर आलम ने कहा कि महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए यह पहल राज्य सरकार की है। जिले के 128 पंचायतों के एक एक समूह के दीदियों को सिलाई मशीन दिया जाएगा। सखी मंडल के दीदियों सिलाई कर आजीविका को बढ़ाएंगे। 8000 किसानों को चिन्हित किया गया है जमीनों को चिन्हित किया गया है बहुत सारी योजनाएं दीदियों के लिए चलाई जा रही है। फूलो झानो आशीर्वाद योजना के तहत दो महिलाओं को ₹10000 की सहायता उपलब्ध कराई गई। वही बेकरी उद्योग के माध्यम से स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए बलियाडंगाल के एक समूह को ₹40000 का लोन दिया गया। एसबीआई सखी मंडल की दीदियों को एक करोड़ रुपए का लोन मुहैया कराई। 256 समूहों को चक्रिय नीति के तहत 15- 15 हजार रुपये का वितरण समूहों के बीच किया गया।
रविन्द्र भवन में आयोजित कार्यक्रम में उपायुक्त ने जिलेवासियों को संबोधित किया, उन्होंने कहा कि राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन का उद्देश्य यही है कि गांव गांव तक विकास योजनाओं को पहुंचाया जाए एवं हरेक व्यक्ति को विकास योजनाओं से जोड़ा जाए
रविन्द्र भवन में आयोजित कार्यक्रम में उपायुक्त श्री वरुण रंजन ने जिलेवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि आमजनों को सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं से जोड़कर लाभान्वित करना राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन की प्राथमिकताओं में से एक है। उपायुक्त ने कहा कि दो प्रमुख परियोजना का शुभारंभ आज माननीय मंत्री श्री आलमगीर आलम के द्वारा किया गया है सरकार का हमेशा ये उदेश रहा है कि दीदियों को कैसे योजनाओं से जोड़े, दीदियों की आजीविका को कैसे बढ़ाया जाए। हुनर परियोजना के तहत जिले के सभी 128 पंचायतों में एक एक समूह दीदियों को सिलाई मशीन दिया जाएगा। इस सिलाई मशीन के मदद से वे सिलाई दुकान खोलकर स्वरोजगार करेंगे। वहीं चास- हाट योजना का शुभारंभ किया गया है। जिले में 8000 किसानों को चिन्हित किया गया है। 8000 किसानों को आधुनिक खेती से जोड़ा जाएगा यह परियोजना एक आकांक्षी योजना है। हमारे यहां के किसान काफी संख्या में कृषि पर निर्भर है। हमारे जिला के ग्रामीण बड़े पैमाने पर कृषि आधारित कार्य करते हैं। जिनसे उनका जीविकापार्जन होता है। राज्य सरकार के द्वारा किसानों की आय दुगनी करने के उद्देश्य से विभिन्न योजनाओं का संचालन कर रही है ताकि उसका समुचित लाभ किसानों को मिल सके। इस कार्यक्रम में उपायुक्त सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी तथा उक्त सभी योजनाओं से जोड़ने हेतु प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा संचालित योजनाओं से जुड़ आप लाभान्वित होंगे एवं आप आर्थिक रूप से मजबूत होंगे। जिला प्रशासन का उद्देश्य है कि गांव के हर एक व्यक्ति को विकास की योजनाओं से जुड़कर लाभान्वित करना है। मौके पर उप विकास आयुक्त श्री अनमोल कुमार सिंह, आईटीडीए निदेशक मो० शाहिद अख्तर, अपर समाहर्ता श्रीमती मंजू रानी, अनुमंडल पदाधिकारी श्री पंकज कुमार, सांसद प्रतिनिधि श्री श्याम यादव, कांग्रेस जिला अध्यक्ष श्री उदय लखमानी, जेएसएलपीएस डीपीएम प्रवीण मिश्रा समेत अन्य संबंधित अधिकारी,कर्मी एवं जिले सुदूरवर्ती क्षेत्रों से आए हुए किसान भाई,बहन उपस्थित थे।