साहिबगंज ( बरहरवा ) । बरहरवा एन एच 80 मुख्य मार्ग के किनारे संचालित कांटा व प्लांट में बिना किसी सीटीओ के बिना ही पत्थर चिप्स को भंडारण करके अवैध रूप से खरीद बिक्री किया जा रहा था। गुप्त सूचना के आधार पर बीते माह 26 अगस्त को राजमहल एसडीओ रौशन कुमार के नेतृत्व में जिला टॉस्क फोर्स द्वारा बड़ी कार्यवाही कर बरहरवा थाना क्षेत्र में संचालित तेंतुलिया स्थित विश्वकर्मा धर्मकांटा, फूटानीमोड़ के लालमाटी स्थित सहारा धर्मकांटा,मुनिया होटल स्थित मोहम्मद रफीक शेख का प्लांट स्थल को सील किया गया था। जिसमे टास्क फ़ोर्स टीम में शामिल परिवहन पदाधिकारी संतोष कुमार गर्ग,बरहरवा अंचल अधिकारी देवराज गुप्ता,बरहरवा थाना प्रभारी रविंद्र कुमार,एवं रंगा थाना प्रभारी अमन कुमार सिंह शामिल था।आश्चर्य की बात यह है कि सील किया गया धर्म कांटा व प्लांट चंद दिनों के अंदर ही पुनः पहले की भांति फिर से संचालित किया जा रहा है।सवाल यह उठता है कि सील किया गया धर्मकांटा व प्लाट स्थल को विभाग के द्वारा सीटीओ निर्गत करा दिया गया है या फिर इन अवैध कारोबारियों के ऊपर प्रशासन या शासन किसी का संरक्षण प्राप्त तो है ही।जिस के संरक्षण में आकर अवैध कार्य करने वाले कारोबारीओं ने कानून को ठेंगा दिखा कर हर क्षेत्र में अवैध कारोबार के वर्चस्व का पैर पसार रहे हैं।जिस कार्य को करने के लिए सरकार के द्वारा अनुमति प्राप्त नहीं होने पर उस कार्य को कानूनी तौर पर अवैध माना जाता है। जिसके कारण राजस्व को प्रतिमाह लाखों रुपये घाटा लगाकर अवैध कारोबारी खुद मालामाल हो रहे हैं।मामले को लेकर राजमहल एसडीओ रौशन कुमार को रिंग किया गया।परंतु नॉट रिचेबल पाया गया।