साहिबगंज ( उधवा )। प्रखंड सभागार में मंगलवार को प्रखंड विकास पदाधिकारी राहुल देव के अध्यक्षता में बी०एल०बी०सी० की बैठक आयोजित की गई।जिसमें जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक,विभिन्न बैंकों के शाखा प्रबंधक एवं प्रखंड के कृषि मित्र,वीएलडब्लू व अन्यो ने हिस्सा लिया। इस बैठक में कई बैंक के ब्रांच मैनेजर अनुपस्थित रहे।कार्यक्रम के दौरान कृषि मित्र सह झामुमो उधवा प्रखंड सचिव मो० तमरुद्दीन ने बताया कि केसीसी लोन में बैंक द्वारा मनमानी किया जा रहा है।अब तक केसीसी ऋण के लिए लगभग पांच हजार फॉर्म विभिन्न बैंकों में जमा किया गया है परंतु अब तक लगभग ना के बराबर ऋण(लोन) सैंक्शन/ पास किया है। विभिन्न बैंकों में बैंकों के शाखा प्रबंधक द्वारा मनमानी रवैया अपना रहा है। कोई कहता है कि मेरा बैंक का सर्विस एरिया नहीं पड़ता है इसलिए लोन नहीं देंगे या फिर कभी कुछ और बहाना बनाकर टालमटोल कर रही है। सूत्र के अनुसार यह भी खबर है कि हर एक ऋणकर्ता से टेबल के नीचे से चढ़ावा लेकर लोन पास करवाने का बात चल रहा है। प्रखंड के कृषक मित्रों का कहना है कि बैंक कर्मचारी का मनमानी रवैया बंद किया जाए एवं कृषक के साथ व्यवहार सही किया जाए। कृषक को सम्मान मिलना चाहिए क्योंकि कृषक हमारे अन्नदाता है। वही कृषक मित्र ने कहा की हमारे कृषि मंत्री ने केसीसी ऋण के लिए कोई शर्त नहीं रखा है परंतु कुछ बैंकों के शाखा प्रबंधक द्वारा नए-नए नियम एवं शर्तें लागू कर कृषक को बेवजह परेशान कर रही हैं। आगे कृषक मित्र ने उच्च अधिकारी के सामने अपनी बात को समाप्त करते हुए कहा कि हमारे कृषक को किसी भी बैंक में लोन पास करवाने के लिए किसी तरह की कोई रिश्वत या किसी तरह की कोई परेशानी ना हो इसलिए सभी बैंक शाखा प्रबंधकों को अल्टीमेटम दे दिया जाए।इस पर जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक सुधीर मंडल ने कहा इस तरह की कोई जानकारी नहीं है अगर इस तरह की शिकायत है और कृषक को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है तो इस पर सक कार्रवाई किया जाएगा। आगे जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक ने कहा की सभी बैंकों को इसकी सूचना दे दी गई है कि जल्द से जल्द नियमानुसार सभी आवेदनकर्ता कृषक को ऋण दिया जाएगा एवं कागजात में त्रुटि होगी तो उन्हें वापस ब्लॉक फॉरवर्ड किया जाएगा।