हमें गर्व है कि हम सनातन है:विश्व हिंदू परिषद

लोहरदगा। नवारीपाड़ा अवस्थित हनुमान मंदिर के जीर्णोद्धार सह मन्दिर नवनिर्माण हेतु भूमिपूजन कर आधारशिला रखी गयी। सम्पूर्ण विधि विधान से श्री आनन्द पाठक व देवेन्द्र पाठक जी द्वारा पूजा पाठ करवाया गया। यजमान श्यानन्द राम दम्पति पूजन में बैठकर भूमिपूजन विधि को पूरा किये। इस शुभ कार्य मे नवारीपाड़ा क्षेत्र के बैजनाथ राम, रघु राम, श्याम राम, अरुण राम समेत मुहल्ला के काफी संख्या में पुरुष व महिला उपस्थित रहे। जबकि भाजपा के राकेश प्रसाद, प्रकाश नायक के साथ साथ अभिवावक अजय मित्तल एवम विहिप् के जिला मंत्री रितेश कुमार, बजरंग दल संयोजक विपुल कुमार, सदस्य आशुतोष पाठक, अंकित कुमार एवम हिमांशु केशरी ने भी अपना समय दिया।
विश्व हिन्दू परिषद के जिला मंत्री रितेश कुमार ने कहा कि लोहरदगा ज़िला में लगातार हो रहे धार्मिक गतिविधियों के कारण अचानक ही लोहरदगा ज़िला का माहौल आध्यात्मिक व धार्मिक हो चली है। आज लोहरदगा ज़िला के मानिंद लोगों के अगुवाई में मंदिरों का प्राण प्रतिष्ठा, सत्संग, मन्दिरों में मिलन कार्यक्रम, धार्मिक भंडारा, मातृ पितृ पूजन व अन्यान्य अवसरों में संयुक्त पूजनोत्सव होना, लोहरदगा ज़िला के सनातनी संस्कृति व संस्कारों की झलक मात्र गौरवान्वित कर रहा है। आज लोहरदगा ज़िला में सरना सनातन हिंदुओं के सहयोग से वर्षों से जर्जरवस्था को झेल रहे ज़िला के विभिन्न मुक्तिधामों का जीर्णोद्धार हो चुका है। जगह जगह भव्य मन्दिरों का निर्माण व जीर्णोद्धार किया जा रहा है। एक ओर बरवा टोली में मां दुर्गा का गगनचुम्बी भव्य मंदिर सनातनियों के सहयोग से लगभग तैयार हो चुका है, तो कामोबेश बी आई डी, महावीर चौक, धोड़ा टोली, किस्को मोड़, नवारीपाड़ा, हेंदलासो, सेरेंगहातु, मुर्की तोड़ार, मासमनो ठाकुर गांव के साथ साथ भंडरा, सेन्हा, कैरो, कूड़ु, पेशरार, किस्को ब्लॉक के अन्य गाँवों, पंचायत इत्यादि के मंदिरें भी अपनी आकर्षकता के चरम पर है। आज ग्रामीण क्षेत्र से लेकर शहरी क्षेत्रों के मंदिरों में घण्टे की आवाज़ व धार्मिक भजन गूँज रही है। सत्संग व भजन कीर्तन अनान्यास होना आरम्भ हो चुका है। धार्मिक अनुष्ठानों में सनातनों की भीड़ बढ़ चुके हैं, युवा अपने संस्कार व संस्कृति को पहचानने लगे हैं।
विश्व हिन्दू परिषद सभी सरना सनातन धर्मावलम्बियों से विनम्र निवेदन करती है कि जो धार, जो समर्पण और झुकाव समाज के प्रति आपके दिलों में जागृत हो चुकी है, उसे कम न पड़ने दें।
हमें गर्व है कि हम सनातन है, वेदों,ग्रन्थों व पुराणों से परिपूर्ण जागृत व संस्कारी समाज से सरोकार रखने वाला धर्म है हमारा सनातन धर्म।
धर्म की स्थापना और विकास में खुला हाथ सहयोग कीजिये
हमारे ईश्वर बहुत ही ताकतवर व दयालु हैं, आपको कभी कष्ट नहीं होने देंगे।

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published.