वन विभाग ने दोनों दांत जब्त कर करवाया विधि पूर्वक हाथी को दफन

गुमला । बिजली विभाग के लापरवाही के कारण भेंट चढ़ गया एक विशालकाय जंगली हाथी। बोलबा में खेत के पास नीचे झुके 11 हजार वोल्ट की तार के चपेट में आने से हुई हाथी की मौत।
घटना सोमवार देर रात्रि की है। बोलबा प्रखंड के बेहरीनबासा पंचायत के अंतर्गत तेतरटोली गांव की है। जहां खेत के उपर 11000 हाई वोल्टेज तार के चपेट में आने से एक जंगली हाथी की मौत हो गई।जानकारी देते हुए सिमडेगा डीएफओ अरविंद गुप्ता ने बताया कि 11000 बिजली का तार काफी नीचे झूला हुआ था। जिसके चपेट में आने से यह जंगली हाथी की दुर्घटना घटी। डीएफओ ने कहा कि यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण घटना है, इस तरह का लापरवाही का काम करने के लिए बिजली विभाग के कर्मी के ऊपर में मामला दर्ज थाने में करवाऊंगा। उन्होने कहा की जंगली हाथी हमारा संपत्ति है इस तरह से जंगली हाथी के मर जाने से वन विभाग को काफी क्षति पहुंची है।*वही मौके पर पहुंचकर प्रखंड कार्यकारी अध्यक्ष सह प्रखंड बीजेपी अध्यक्ष सुरजन बड़ाईक ने मरे हुए हाथी पर सालु कपड़ा से ढंका एवं विधिवत पूजा अर्चना करते हुए फूल अगरबत्ती अर्पित हुए जंगली हाथी की आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना किया।बोलबा वन क्षेत्र पदाधिकारी शंभू शरण चौधरी ने बताया कि हमारे विभाग की ओर से दो डॉक्टरों को भी लाया गया है जंगली हाथी का पोस्टमार्टम करने के बाद विधिवत जमीन के अंदर दफन किया गया। उन्होने बताया मृत हाथी का दो दांत था। जिसे दफन करने से पूर्व विभाग निकल ली है। उन्होने बताया एक एक दांत 23 इंच लंबा और 10 इंच मोटा है। दोनों दांत का वजन 7 किलों 750 ग्राम है। विभाग बाद में इसकी नीलामी करेगी। दोनों दांत अभी विभाग के पास सुरक्षित रखे गए हैं।हाथी के मरने की दुखद घटना से प्रखंड के हिंदू धर्मावलंबियों ने भी कहा कि यह घटना काफी दुखदाई है।