पाकुड़ ( हिरणपुर ) । प्रखंड के केन्दुआ पँचायत के पोखरिया गांव में गुरुवार को सिविल सर्जन डा. रामदेव पासवान ने कालाजार सर्वे कार्य का हरी झंडी दिखाकर शुरुवात किया। कालाजार प्रभावित गाँव पोखरिया में जिले भर के एमपीडब्ल्यू , स्वास्थ्य कर्मी आदि उपस्थित थे। जहाँ से सर्वे कार्य प्रारम्भ की गई।स्वास्थ्य विभाग द्वारा हिरणपुर प्रखंड में 5 दिनों तक सर्वे कार्य किया जाना है। इसको लेकर जिले के सभी 80 एमपीडब्ल्यू को कार्य मे लगाया गया है। जो प्रखंड के सभी गाँवो में जाकर सर्वे कार्य करेंगे।इसमे स्थानीय स्तर पर आंगनवाड़ी सेविका , सहायिका , स्वास्थ्य सहिया आदि को लगाया गया है। पोखरिया के बाद केंदुआ व गम्हरिया में भी सर्वे कार्य की गई। सिविल सर्जन ने बताया कि झारखण्ड के पाकुड़ सहित साहेबगंज , गोड्डा व दुमका जिला कालाजार से प्रभावित जिला है। इसको लेकर वृहत स्तर पर सर्वे कार्य की जाएगी। हिरणपुर प्रखंड में सर्वे कार्य पूर्ण होने के बाद दूसरे प्रखंड में की जाएगी। इस कालाजार खोज अभियान में सभी स्वास्थ्य कर्मी कार्य का निर्वाह निर्दिष्ट समय मे करेंगे। वही डीएमओ सह चिकित्सा प्रभारी डा. सुनील कुमार सिंह ने बताया कि इसमें घर -घर जाकर सर्वे की जाएगी। यदि किसी व्यक्ति की 15 दिनों से अधिक दिनों तक बुखार हो, या इससे कम दिनों तक अनवरत बुखार , खांसी हो तो सर्वे के उपरांत तुरन्त सम्बन्धित बीमार व्यक्ति को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया जाएगा। इसमे कालाजार , मलेरिया , यक्ष्मा सहित सभी रोगों की इलाज की जाएगी। कालाजार उन्मूलन को लेकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा कार्ययोजना बनाकर सम्बन्धित क्षेत्रो में सर्वे कार्य की जा रही है। जिससे कि मरीज की पहचान हो सके। उधर पीसीआई के द्वारा सर्वे के दौरान सभी घरो में दीवाल लेखन कर लोगो को जागरूक की जाएगी। इस मौके पर डीपीओ केयर इंडिया विक्रम राणा आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे।