चाईबासा । चाईबासा के मंझारी प्रखंड के उकुमाड़काम गांव में अपनी नाबालिग भतीजी से दुष्कर्म करने के मामले में गांव के ग्रामीण मुंडा ने आरोपी पर 30 हजार रुपये का जुर्माना लगाया था. रकम नहीं दे पाने पर ग्रामीण मुंडा की ओर से आरोपी के घर पर ताला लगा दिया गया है. साथ ही और आरोपी और उसके परिवार के सदस्यों को खदेड़ दिया गया है.

10 सितंबर को हुई थी घटना

घटना 10 सितम्बर की है. आरोपी लक्ष्मण हेमरोम का भजीती के साथ अवैध संबंध था. इस बीच वह गर्भवती हो गई थी. इसके बाद उसने गर्भपात करवा दिया था. घटना के कई दिनों बाद इसकी सूचना मुंडा को मिली थी. इसके बाद ग्रामसभा का आयोजन किया गया था. आरोप है कि बैठक में आरोपी और नाबालिग के साथ मारपीट की गई थी.

जिंदा जलाने का सुनाया था फरमान

दोनो एक ही गोत्र का होने के कारण जिंदा जलाने का फरमान ग्रामसभा में सुनाया गया था. उस दिन दोनों परिवारों के अलावे आरोपी के चाचा का सामाजिक बहिष्कार किया गया था. यह भी फरमान जारी किया गया था कि जब तक जुर्माना नहीं भरता है तब तक तीनों परिवारों के साथ न तो कोई बात करेगा और न ही वे गांव की सीमा से पानी ले सकता है. नहाने और शौच पर भी प्रतिबंध लगाया था. राशन डीलर से चावल लेने से रोक लगा दिया गया था.