पाकुड़ । झारखंड सरकार के निर्देशों पर शुक्रवार 24 सितंबर को मध्य विद्यालय का दरवाजा खोल दिया गया है।बच्चे काफी उत्साहित थे 1 साल 6 महीना 1 दिन के बाद बच्चों ने अपना स्कूल का मुंह देखा । लेकिन कुछ बच्चे बच्चियां को मन में डर भी था जो नए-नए बच्चियां बच्चे क्लास 6 में नामांकित हुए हैं। उन्हें डर है कि कैसे टीचर मिलेंगे वह हमें अच्छे से पढ़ाएंगे कि नहीं हम से अच्छे बातें करेंगे या नहीं बच्चों में एक तरफ स्कूल खुलने की खुशी और दूसरी तरफ भय का माहौल था वही जब आज सुबह मैं रानी ज्योतिर्मयी बालिका मध्य विद्यालय पहुंचा तो देखा की छात्राएं कतार बद्ध तरीके से स्कूल के अंदर प्रवेश की और रसोईया जो सैनिटाइजर लेकर के हाथों में खड़ी थी सभी बच्चियों को सैनिटाइजर किया और सरकारी आदेश अनुसार सभी छात्राएं मुंह में मास्क के साथ उपस्थित हुई और सभी के हाथों में अभिभावक के हस्ताक्षर किए हुए कागज मैंने देखा उसमें स्कूल में जाने का सहमति पत्र नजर आया कि हमारे तरफ से बच्चे स्कूल जा सकते हैं जब हमने रानी ज्योतिर्मयी बालिका मध्य विद्यालय की एक छात्रा लक्ष्मी सिंह से बात की जो कि नई नई कक्षा छह में अपना दाखिला करवाया है उनसे बातचीत की आपको इतने दिनों बाद स्कूल आने का मन किया या नहीं तो छात्राएं ने जवाब दी कि हमें खुशी है कि हमारा स्कूल खुल गया और डर भी लगता है कि हम पुराने स्कूल को छोड़ नए स्कूल में अपना दाखिला लिए हैं डर इस बात का कि हमें शिक्षक शिक्षिकाएं कैसी मिलेंगी हमें मदद करेंगी या नहीं लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ मैडम आई और उन्होंने अपना नाम बताया और सभी छात्राएं से बारी बारी से सभी का नाम पूछा और और रोल नंबर पूछा सभी बच्चियां का डर खत्म हो गया कि नहीं स्कूल की मैडम अच्छी है भय का माहौल जो था उसके मन में वह खत्म हो गया आज स्कूल का जो दिन था पूरे बातचीत और परिचयात्मक तरीका से गुजर गया कल से क्लास की शुरुआत होगी।कोविड-19 गाइडलाइन के अनुसार एक बेंच पर एक छात्राएं बैठी नजर आई सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हुआ अनुष्का कुमारी खुशी चौधरी, विद्याश्री ,ब्यूटी कुमारी, श्रुति कुमारी यह सारे कक्षा 6 की छात्रा हैं जो नई नई अपनी दाखिला करवाई है कुछ बच्चे को स्कूल अधिकारी ने घर वापस जाने को कहा कि जो बच्चे अभिभावकों की हस्ताक्षर सहमति पत्र आज नहीं लाए उन्हें दूसरे दिन अपनी अपनी अभिभावक का हस्ताक्षर किया हुआ सहमति पत्र साथ लेकर स्कूल आने के लिए सभी बच्चों को दिशा निर्देश दिया गया है।