चतरा । एक मां ने एक डॉक्टर से अपने बेटे के पेट दर्द के लिए मांगी थी दर्द की दवा पर उसे दवा की जगह मौत का सौगात दे दी गयी. यह घटना कुन्दा थाना क्षेत्र के कुसुम्भा गांव में शुक्रवार को घटी. जहां एक झोलाछाप डॉक्टर ने एक दस वर्षिय बालक की जान ले ली. मृतक बालक गांव के ही बुधन भुइयां का 10 वर्षीय पुत्र आकाश है.
बताया जाता है कि आकाश को पेट दर्द की शिकायत थी.

इसी दर्द की दवा मांगने के लिए उसकी मां डॉक्टर के पास गयी थी. परन्तु डॉक्टर ने उसे दवा ना देकर इंजेक्शन लगा दिया.

इंजेक्शन के लगते ही बालक की स्थिति बिगड़ने लगी. स्थिति को भाफते हुवे झोलाछाप डॉक्टर ने आकाश को घर जे जाने को कहा. डॉक्टर ने बताया कि इसे घर लेकर पहुंचिए वहीं इसका बेहतर इलाज किया जाएगा.

जैसे कि आकाश की मां बेटे को क्लिनिक से लेकर घर जाने के लिए निकली वैसे ही झोलाछाप डॉक्टर ने आनन फानन में अपना क्लीनिक बन्द कर गांव से फरार हो गया.

इधर घर पहुंचने के कुछ देर बाद ही आकाश की मौत हो गयी. इसके मौत से घर में जहां एक ओर मातम पसरा हुआ है, वहीं झोलाछाप डॉक्टर के करीबी लोगों के द्वारा मामले की लीपापोती करने का प्रयास किया जा रहा है.