गिरिडीह । 27 सितंबर को आहूत देशव्यापी बंद को लेकर शुक्रवार को गिरिडीह में चार राजनीतिक दलों के साथ किसान संगठनों के प्रतिनिधियों ने प्रेस वार्ता की. जिसमें कांग्रेस जिलाध्यक्ष नरेश वर्मा, कांग्रेस नेता अजय सिन्हा मंटु, भाकपा माले नेता राजेश सिन्हा, एनसीपी नेता शत्रुध्न मिश्रा, संयुक्त किसान मोर्चा के विश्वनाथ सिंह, किसान महासभा के रामदेव विश्वबंधु शामिल हुए.

प्रेसवार्ता के दौरान राजनीतिक दलों और किसान संगठनों के प्रतिनिधियों ने कहा कि तीन कृषि कानूनों के खिलाफ देशव्यापी बंद हर हाल में सफल होगा. ऐसे में प्रतिष्ठान मालिकों के साथ वाहन मालिकों से भी अपील रहेगी कि किसानों और महंगाई के मुद्दे पर वो अपना प्रतिष्ठान और वाहन बंद रखें.

प्रेस वार्ता के दौरान माले नेता राजेश सिन्हा ने कहा कि बंद समर्थकों से उलझने पर भाजपाइयों और प्रतिष्ठानों मालिकों को नुकसान उठाना पड़ सकता है.

कांग्रेस अध्यक्ष नरेश वर्मा ने मौके पर कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा का यह बंद किसानों के हित से जुड़ा है. ऐसे में 26 सितंबर को मशाल जुलूस के दुसरे दिन 27 सितंबर को बंद समर्थक रोड पर उतरेगें. 29 सितंबर को जिला मुख्यालय में धरना भी किया जाएगा.