गुमला । संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर 27 सितंबर को आहूत भारत बंद के समर्थन गैर भाजपा दल कांग्रेस , झामुमो, सीपीआई,सीपीआई( एम),राजद,एमसीपी के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मशाल जुलुस निकला।गौरतलब हो कि बिगत एक वर्ष पूर्व केंद्र सरकार द्वारा किशन विरोधी कृषि बिल पारित किया गया है जो किशानो को कमर तोड़ने वाला है। पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए नया कृषि कानून लाया गया है।नया कृषि बिल से न्यनतम समर्थन मूल्य समाप्त हो जायेगी।मंडी सिस्टम खत्म करने से लाखों लोग बेरोजगार हो जायँगे।

अनाज की नियुनतम स्टॉक सिमा समाप्त करने से जमाखोरी को खुली छूट मिल जायेगी ,जिससे मंहगाई में भारी इजाफा हो जायेगी।केंद्र सरकार की गलत नीति के कारण देश की जनता मंहगाई से त्रस्त है लोंगो की जीना मुहाल हो गया है।
कल की भारत बंद को गैर भाजपा दल संयुक्त रूप से पूर्ण रूप से समर्थन करेगी।कार्यकर्ता बंद के समर्थन में सड़क पर उतारने का काम करेगी। आज के मशाल जुलूस में कांग्रेस पार्टी के जिला अध्यक्ष रोशन बरवा, मानिक चंद साहू, अकील रहमान, युवा कांग्रेस के रोहित उरांव, चुमनु उरांव, आशिक अंसारी, मोख्तार आलम, मो मिनी, शाहिद वारसी, सगीर आलम ( बबलू)मुरली मनोहर प्रसाद, झामुमो के रंजीत सिंह सरदार,सीपीआई के अनिल अशूर, बसंत गोप,सीपीआई(एम) के अल्बिश मिंज,दिनेश उरांव, बुधु टोप्पो, बुधराम उरांव, झामुमो के मो आरिफ, मो इम्तियाज ,होसियाना तिरकी, मोहन बाखला, अजीम खान, अनमोल मिंज,कांग्रेस के जैस्मिन लुगुन, रेणु लकड़ा, इंदु एक्का,भुनेश्वर राम , प्रवीण बागे, पतरस होरो, आलोक टेटे, मो अफसर आलम के साथ सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल थे।