साहिबगंज ( मंडरो )। मिर्जाचौकी थाना क्षेत्र अन्तर्गत कोहबारा गाँव में रविवार को मिर्जाचौकी थाना प्रभारी अशोक प्रसाद दुआरा डायन प्रथा एवं अंधविश्वास के प्रति जन जागरूकता अभियान चलाया गया। इसमें थाना प्रभारी स्वयं उपस्थित होकर ग्रामीणों को दहेज हत्या, बाल विवाह, डायन प्रथा व अन्य समाजिक कुरीतियों की जानकारी उपस्थित ग्रामीणो को दिए । जानकारी देते हुए थाना प्रभारी अशोक प्रसाद ने बताया की साहेबगंज पुलिस अधीक्षक के आदेशानूसार यह कार्यक्रम चलाया जा रहा है। अभियान के क्रम में लोगों को बताया गया कि दहेज प्रथा, हत्या के मामले में निर्दोष का साक्ष्य आरोपित को देना पड़ता है। इसमें पीड़ित पक्ष का बयान ही जेल भेजने के लिए पर्याप्त होता है। बताया गया कि शादी के सात साल के अंदर महिला के किसी भी संदिग्ध परिस्थिति में मौत नहीं हो यह परिवार व गांव के लोगों को सुनिश्चित करने के लिए प्रेरित करेंगे। परिवार व पड़ोस में महिला प्रताड़ना के मामलों की अनदेखी नहीं की जानी चाहिए। क्योंकि हमारे समाज को अंधविश्वास खोखला कर रहा है। जबकि इसकी कयी मामले न्यायालय में लंबित पडी हैं। जागरूकता अभियान के दौरान कहा गया कि डायन प्रतिषेध अधिनियम, पोस्को एक्ट, बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम सहित कानून की जानकारी दी गई। वहि बताया गया की डायन प्रथा को मिटाने के लिए जिला विधिक सेवा प्राधिकार समय समय पर जागरुकता शिविर लगा कर इस कुप्रथा पर रोक लगाने का कार्य करता है। लोगों को अब पूर्ण रूप से जागरुक होने की आवश्यकता है।जन जागरूकता अभियान के तहत मिर्जाचौकी थाना प्रभारी अशोक प्रसाद ने डायन बिसाही को लेकर मन से अंधविश्वास को मिटाने महिला शसक्तीकरण को बढ़ावा देने पर बल दिया । बताया गया कि शिक्षा और जागरूकता से ही यह कुप्रथा समाप्त होगी । उन्होंने महिलाओं को पूर्व आत्मविश्वास के साथ आगे आने की अपील की । मौके पर- मिर्जाचौकी थाना के एस आई प्रवेश कुमार,सब इंस्पेक्टर सुमित्रा कक्ष्यप , आरक्षि कुसुम कुमारी आदि मिर्जाचौकी थाना के पुलिस बल मौजूद थे ।