लोहरदगा l lदिनांक 27/09/2021 को लोहरदगा जिला शंख पिकेट के पास संयुक्त किसान मोर्चा के समर्थन एवं केंद्र की मोदी सरकार के काला कृषि कानूनों के ख़िलाफ़ एक दिवसीय भारत बंद संयुक्त रूप से की गयी, जिसमें मुख्य रूप से झामुमो जिलाध्यक्ष मोज़म्मिल अहमद, कांग्रेस जिला कार्यकारी अध्यक्ष सुखेर भगत, सांसद प्रतिनिधि अशोक यादव, सीपीआइएम महेश सिंह सांवरिया के साथ महागठबंधन के अगुवाई में जोरदार तरीके से किया गया। मौके पर किसानों एवं महागठबंधन के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मोज़म्मिल अहमद में कहा कि केंद्र की मोदी सरकार की ओर से पारित तीन किसान विरोधी काला कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर किसान करीब 300 दिन से दिल्ली की सीमा पर धरने पर बैठे हैं. इस धरने के दौरान 600 से अधिक किसानों की मौत हो चुकी है लेकिन मोदी सरकार ने किसानों के साथ इस मामले पर चर्चा करने की जहमत नहीं उठाई और ना ही किसानों की दुर्दशा पर दया की, केंद्र सरकार अपने चंद पूंजीपति मित्रों के आगे नमस्तक हो पूरा देश बेचने को आतुर है। केंद्र सरकार अपने “हठगर्मिता” से संघर्षरत किसानों से बातचीत नहीं कर रही है। जबतक केंद्र सरकार तीन काला कृषि कानूनों को वापिस नहीं लेगी तब तक हमारा आंदोलन यूँही चलता रहेगा। आज भारत बंद में मुख्य रूप से झामुमो जिलाध्यक्ष मोज़म्मिल अहमद, कार्यवाहक सचिव अनिल उराँव, सहसचिव संजू तुरी, केंद्रीय सदस्य सुखदेव उराँव, अल्पसंख्यक जिलाध्यक्ष ऐनुल अंसारी, रेयाज अंसारी, प्रखंड अध्यक्ष वारिश कुरैशी, युवा जिलासचिव अख्तर अंसारी, युवा जिलाध्यक्ष अजय उराँव,युवा जिलाउपाध्यक्ष सह जिला सोशल मीडिया प्रभारी मो फुरकान अहमद, सेन्हा प्रखंड प्रभारी अफ़रोज़ आलम, व्यवसायिक मोर्चा सचिव इम्तियाज आलम, युवा प्रखड अध्यक्ष शंकर उराँव, आसिफ कुरैसी, मोहसिन अंसारी, आदिल, रजा, नसीब पठान, सोएब अंसारी, आदि लोग मौजूद थे।