पाकुड़ | पाकुड़ जिला के गाँधी चौक, बिरसा चौक, इंदिरा चौक, आम्बेडकर चौक, सहित सम्पूर्ण पाकुड़ सोमवार को बंद रहा।संयुक्त किसान मोर्चा के समर्थन एवं केंद्र की मोदी सरकार के काला कृषि कानूनों के ख़िलाफ़ एक दिवसीय भारत बंद संयुक्त रूप से की गयी, जिसमें मुख्य रूप से कांग्रेस जिला अध्यक्ष उदय लखमानी, झामुमो जिला अध्यक्ष श्याम यादव, राजद जिला अध्यक्ष गोपिन हेम्ब्रम, सीपीआईएम के माणिक दुबे ने महागठबंधन के अगुवाई में जोरदार तरीके से किया बाजार बंद एवं चक्का जाम । मौके पर किसानों एवं महागठबंधन के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कांग्रेस जिला अध्यक्ष उदय लखमानी ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार की ओर से पारित तीन किसान विरोधी काला कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर किसान करीब 300 दिन से दिल्ली की सीमा पर धरने पर बैठे हैं. इस धरने के दौरान 600 से अधिक किसानों की मौत हो चुकी है लेकिन मोदी सरकार ने किसानों के साथ इस मामले पर चर्चा करने की जहमत नहीं उठाई और ना ही किसानों की दुर्दशा पर दया की, केंद्र सरकार अपने चंद पूंजीपति मित्रों के आगे नमस्तक हो पूरा देश बेचने को आतुर है। केंद्र सरकार अपने हठगर्मिता से संघर्षरत किसानों से बातचीत नहीं कर रही है। जबतक केंद्र सरकार तीन काला कृषि कानूनों को वापिस नहीं लेगी तब तक हमारा आंदोलन यूँही चलता रहेगा। आज भारत बंद में मुख्य रूप से सक्रिय भूमिका निभाने वाले सेमिनूल इस्लाम, पाकुड़ प्रखंड अध्यक्ष मनसारूल हक, जिला प्रवक्ता मुख्तार हुसैन जिला सोशल मीडिया कोऑर्डिनेटर नलिन मिश्रा, जिला उपाध्यक्ष प्रमोद दोकानिया, जिला महासचिव श्री कुमार सरकार, अनूप सिन्हा, जोएल मुर्मू, जिला सचिव क्रमशः असलम अंसारी एवं कृष्णा यादव, जिला कोषाध्यक्ष असद हुसैन, जोनल प्रवक्ता निरंजन मिश्रा, संतु चौधरी, आमिर हमजा, मोहम्मद सिराजुद्दीन शेख, हबीबुर् रहमान, कौसर आलम, भगवती गुप्ता, विवेक गोस्वामी, राम विलास महतो, मिथुन मरांडी, मंसार शेख आदि मौजूद थे।