लोहरदगा l लोहरदगा जिला के राजनीति कार्यकर्ता आलोक कुमार साहू ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को ट्वीट कर झारखंड सरकार के द्वारा आदिवासियों को जाति प्रमाण पत्र एक ही बार बनाने का निर्णय का स्वागत करते हुए उसी प्रकार अनुसूचित जाति, अत्यंत पिछड़ा जाति एवं पिछड़ा जाति के हितों को ध्यान में रखकर जाति प्रमाण पत्र एक बार ही बनाने की मांग किए। श्री साहू ने कहा कि हम सबों को ध्यान में रखना चाहिए कि किसी भी की जाति नहीं बदलती है बावजूद बार-बार जाति प्रमाण पत्र बनाना पड़ता है जिससे जनता को जाति प्रमाण पत्र बनाने में परेशानियों से गुजरना पड़ता है। जाति प्रमाण पत्र एक बार ही बने और वह आजीवन मान्य हो इसी लिहाज से मुख्यमंत्री को इस विषय पर गंभीरता पूर्वक निर्णय लेने की जरूरत है। श्री साहू ने कहा कि वे इस बात को लेकर आशान्वित हैं कि जिस प्रकार मुख्यमंत्री ने आदिवासियों को जाति प्रमाण पत्र एक बार ही बनाने का निर्णय लिया है उसी प्रकार अनुसूचित जाति ,अत्यंत पिछड़ा वर्ग एवं पिछड़ा वर्ग को भी जाति प्रमाण पत्र एक बार ही बनाने का निर्णय लेंगे।