हजारीबाग । फिर एक बार दिल को झकझोर देने वाली घटना घटी। भाजपा विधायकों के संयुक्त पहल पर HMCH प्रबंधन से बात करके भर्ती कराए गए बड़कागांव के इस मरीज की चिकित्सकीय लापरवाही और HMCH की लगातार गिरती स्वास्थ्य व्यवस्था के कारण असामयिक निधन हो गया। मरीज के परिजनों के लाख प्रयासों के बाद भी वे इन्हें नहीं बचा सकें ।

इसका जवाबदेही कौन लेगा? आखिर कब तक जरूरतमंद मरीजों से HMCH में इस प्रकार खिलवाड़ होता रहेगा? कब जागेगी हेमंत सरकार और HMCH प्रबंधन? मैंने व्यक्तिगत रूप से इस मरीज के बेहतर इलाज के लिए संबंधित ड्यूटी डॉक्टर से बात करके आईसीयू में भर्ती कराया था और इनके बेहतर चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध कराने हेतु HMCH के सुप्रीटेंडेंट डॉ.विनोद कुमार से रात्रि में ही आग्रह किया था। लेकिन शायद हम अपने इस प्रयास में सफल नहीं हो सकें और इनकी असामयिक मौत ने एकबार फिर मेरे मन – मस्तिष्क को झकझोर कर रख दिया। अब इस कुव्यवस्था के खिलाफ जन आंदोलन ही एक मात्र विकल्प बचा है ।