हजारीबाग । समग्र शिक्षा अभियान के अंतर्गत +2 जिला स्कूल, हजारीबाग में स्वच्छ विद्यालय स्वस्थ बच्चे के तहत एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन यूनिसेफ की सहयोगी संस्था लीड्स द्वारा किया गया। इस कार्यशाला का आयोजन शिक्षा अभियान की अध्यक्षता में संपन्न किया गया। कार्यशाला को संबोधित करते हुए सहायक अभियंता के द्वारा बताया गया कि स्वच्छ विद्यालय स्वस्थ बच्चे के 39 इंडिकेटर को पूरा कैसे किया जा सकता है। उन्होंने जल के शुद्धता की जांच हेतु जिला जल जांच प्रयोगशाला या सहायक अभियंता के कार्यालय से भी संपर्क स्थापित करने की बात कही। साथ ही मुख्यमंत्री स्वच्छ विद्यालय से पुरस्कृत विद्यालयों द्वारा अपने स्थिति को बरकरार रखने पर बल दिया.इन्होंने कहा कि जिले के सभी संकुल से एक-एक स्वच्छ मॉडल विद्यालय के रूप में चयनित करें।
यूनिसेफ की सहयोगी संस्था लीडस् के राज्य समन्वयक, स्वर्णा राउत के द्वारा प्रस्तुतीकरण के माध्यम से मुख्यमंत्री स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार के 39 बिंदुओं के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई। उनके द्वारा बताया गया कि मुख्यमंत्री स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार में प्रथम एवं द्वितीय स्टार लाने वाले विद्यालयों को स्वच्छता के 39 मानकों को पूरा कराकर 3 स्टार एवं 4 स्टार में अपग्रेड किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि विद्यालय में शिक्षा के साथ-साथ स्वच्छता के सभी मानकों पर चर्चा किए जाने की आवश्यकता है और स्वच्छता एक्शन प्लान बनाकर सभी विभागों से अभिसरण स्थापित करने की आवश्यकता है।