डीडीसी के द्वारा 53 बैंक कॉरस्पॉडेंट सखी को थंब इंप्रेशन डिवाइस सहित प्रशिक्षण सीएससी रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र दिया गया।

पाकुड़ । भारत की आजादी की 75वी. वर्षगांठ अमृत महोत्सव के शुभ अवसर पर शुक्रवार को समाहरणालय सभागार में बैंकिंग कोरेस्पोंडेंट सखी प्रोत्साहन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का शुभारंभ उप विकास आयुक्त अनमाेल कुमार सिंह एवं जेएसएलपीएस डीपीएम श्री प्रवीण मिश्रा ने संयुक्त रूप से किया। समूह की दीदियों द्वारा अतिथियों को पौधा देकर स्वागत किया गया। मौके पर उप विकास आयुक्त अनमोल कुमार सिंह ने कहा कि जेएसएलपीएस माध्यम से गरीब ग्रामीण परिवारों के उत्थान हेतु बहुत सारे कार्य किये जा रहे हैं। जिसमें बहुत सारी महिलाएं अपने जीवन में उन्नति के लिए प्रयासरत हैं। सीएससी के माध्यम से दूर दराज के गांवों में बैंकिंग सुविधा नहीं होने के कारण लोगों को बहुत परेशानी होती थी। लाभुकों को सरकार द्वारा प्रदान किये जा रहे राशि निकालने में लोगों को दिक्कत होती थी। आज 53 लोगो को मारफो मशीन प्रदान की जा रही है इससे पंचायत स्तर पर ही लोगों को बैंकिंग सुविधाएं प्राप्त होंगी। राशि निकासी के नाम पर ठगी बन्द होगी। राज्य स्तर से आये हुए प्रशिक्षक आज प्रशिक्षण देंगे। इस कार्य को करने में कोई भी दिक्कत होने पर जेएसएलपीएस एवं जिला प्रशासन पूर्ण रूप से दीदियों को अपना समर्थन प्रदान करेगा। कार्यक्रम के अंतर्गत उपस्थित बीसी सखी दीदियों को दीदियों को डिजिटल माध्यम से आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (AEPS), खाते से पैसे की निकासी, जमा, फंड ट्रांसफर, पैन कार्ड जेनरेशन, बीमा, बिल भुगतान, मोबाइल एवं अन्य प्रकार के रिचार्ज करने का प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षित डीजी पे सखी के माध्यम से दूरस्थ गांवो एवं पहाड़िया क्षेत्रो में रहने वाले लोगों के घर पर ही बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध हो पाएंगी। इसके साथ ही सखी मंडल की दीदियों को भी आजीविका बढ़ाने का एक माध्यम प्राप्त होगा। सरकार की जो मंशा है उसे शत प्रतिशत पूरा करें। ग्राहकों को बेहतर सेवा देने का कार्य करें। उपस्थित दीदियों के कार्य का सराहना करते हुए उनका उत्साह बढ़ाया और क्षेत्र में किसी प्रकार की कठिनाई होने पर जानकारी साझा करने को कहा।
इससे पूर्व जेएसएलपीएस की जिला कार्यक्रम प्रबंधक प्रवीण मिश्रा ने कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी दी। कार्यक्रम के दौरान सभी प्रखंडों से आये कुल 53 बी.सी. (बैकिंग कोरेस्पोंडेंट) सखी को बैंकिंग कार्यों के लिए लेन – देन करने हेतु उपकरण एवं सीएससी रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। इस उपकरण के जरिए बी.सी. सखी के द्वारा सखी मंडल, उनके सदस्यों एवं अन्य ग्राहकों के सभी तरह के लेनदेन एवं अन्य बैंकिंग कार्य को ऑनलाइन कर पाएंगी जिसमें गांव के महिलाओं को बैंक के कार्यों के लिए दूर नहीं जाना पड़ेगा। मौके पर जिला कार्यक्रम प्रबंधक , सीएससी ऑफिसियल, सीएससी के जिला प्रशिक्षक श्री सोनेलाल, जिला परियोजना पदाधिकारी एवं अन्य उपस्थित थे।