गुमला | गुमला के परमवीर अलबर्ट एक्का स्टेडियम में महात्मा गाँधी/ लाल बहादुर शास्त्री के जयंती पर उन्हें शत्-शत् नमन किया गया

मनरखन गोप के पुण्यतिथि पर श्रद्धा सुमन अर्पित कर मनरखन गोप स्मृति फुटबॉल टूर्नामेंट का शुभारंभ किया गया

आजादी के अमृत महोत्सव के राष्ट्रव्यापी अभियान के अंतर्गत आज परमवीर अलबर्ट एक्का स्टेडियम में आदिवासी मूलवासी विकास समिति के सौजन्य से मनरखन गोप स्मृति फुटबॉल टूर्नामेंट के पाँच दिवसीय फुटबॉल महोत्सव का शुभारंभ किया गया।

टूर्नामेंट का उद्घाटन उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा, सदर अनुमंडल पदाधिकारी रवि आनंद, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी देवेंद्रनाथ भादुड़ी, समिति संरक्षक रोहित भगत, अध्यक्ष रवि उराँव, उपाध्यक्ष मनीष सिंह, सचिव आशीष गोप ने संयुक्त रूप से किया। इससे पूर्व मनरखन गोप के आदमकद कटआऊट पर पुष्पार्पण/ माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई।

इस अवसर पर खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए उपायुक्त ने कहा कि आज हम राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी, पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के जयंती पर उन्हें नमन करते हैं। साथ ही गुमला के खेल जगत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले स्वर्गीय मनरखन गोपजी को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धासुमन अर्पित करते हैं। गुमला जिला को खेल नगरी के रूप में जाना जाता है। गुमला से हॉकी के क्षेत्र में यहाँ के खिलाड़ियों ने प्रांतीय/ राष्ट्रीय एवं अंतर्रराष्ट्रीय हॉकी के क्षेत्र में जिले का नाम रौशन किया है। अन्य खेलकूद गतिविधियों में भी गुमला अग्रणी रहा है। पूर्व में यहाँ धरती पुत्र कार्तिक उराँव की स्मृति में अखिल भारतीय फुटबॉल टूर्नामेंट का आयोजन होता था। किंतु विगत कई वर्षों से यह आयोजन नहीं हो पाया है। आदिवासी मूलवासी विकास समिति ने गुमला के खिलाड़ी मनरखन गोप की स्मृति में पहली बार पाँच दिवसीय फुटबॉल टूर्नामेंट का आयोजन कर रही है। समिति का यह प्रयास खेल प्रतिभाओं को सामने लाने में एक सराहनीय कदम है। उन्होंने जिला प्रशासन की और से समिति को टूर्नामेंट के आयोजन में हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया।
उपायुक्त ने फुटबॉल किक मारकर उद्घाटन मैच का शुभारंभ किया।

इससे पूर्व स्वागत भाषण करते हुए सदर अनुमंडल पदाधिकारी रवि आनंद ने समिति के सभी पदधारियों एवं प्रतिनिधियों को कार्यक्रम आयोजन के लिए धन्यवाद दिया। साथ ही उन्होंने गुमला में फुटबॉल खेल को फिर से पुनर्जीवित करने के लिए समिति के प्रयास को सराहनीय बताया। उन्होंने कहा कि खेल समारोह के आयोजन में कोविड गाईडलाइन का पालन अनिवार्य रूप से किया जाए तथा खिलाड़ी खेल भावना से फुटबॉल टूर्नामेंट को यादगार बनाएं।

समिति संरक्षक रोहित भगत ने बताया कि यह टूर्नामेंट आज 02 अक्तूबर गाँधी-शास्त्री जयंती के अवसर पर मनरेखन गोप की पुण्यतिथि पर उनको श्रद्धांजलि देने के साथ आजादी के अमृत महोत्सव श्रंख्ला को ध्यान में रखकर आयोजित किया गया है। यह पाँच दिवसीय फुटबॉल महाकुंभ है। इसमें कुल 16 टीमों के बीच राज्यस्तरीय फुटबॉल खेला जाएगा। आज उद्घाटन मैच में हेहल स्पोर्टिंग क्लब राँची एवं टीएफसी गुमला के बीच मुकाबला होना है। फुटबॉल टूर्नामेंट के अनुसार टीमों का आगमन होगा। खिलाड़ियों के लिए भोजन, आवासन की व्यवस्था समिति के द्वारा की गई है।

*फुटबॉल टूर्नामेंट के अवसर पर सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सौजन्य से जिला जनसंपर्क पदाधिकारी देवेंद्रनाथ भादुड़ी के पर्यवेक्षण में मधुकुंज सांस्कृतिक दल के कलाकारों द्वारा टीमलीडर शंकर नायक के नेतृत्व में आजादी के अमृत महोत्सव, अहिंसा के क्षेत्र में गाँधी जी के योगदान, आजाद भारत के विकास में शास्त्री जी की भूमिका, स्वच्छता, ग्राम स्वरोजगार, खेलकूद, सद्भावना, अँधविश्वास, डायन बिसाही उन्मूलन, गुमला में टाना भगत आंदोलन आदि विषयों पर नृत्य-गीत के माध्यम से कार्यक्रम प्रस्तुत कर स्टेडियम में उपस्थित अधिकारियों, खिलाड़ियों, खेल-प्रेमी दर्शकों का मनोरंजन किया गया। साथ ही आजादी के अमृत महोत्सव पर विशेष फोकस किया गया।