पाकुड़ । राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जयंती के अवसर पर उप विकास आयुक्त अनमाेल कुमार सिंह, अपर समाहर्ता श्रीमती मंजू रानी, नगर परिषद अध्यक्ष श्रीमती संपा साह एवं जिले के अन्य वरीय पदाधिकारियों ने गांधी चौक पर स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। साथ ही अभियान के माध्यम से लोगों से आग्रह किया गया कि वे अपने घरो के साथ-साथ आस-पास के सार्वजनिक स्थलों यथा-मंदिर व अन्य पूजा स्थल, पर्यटन स्थल, पार्क, खेल का मैदान आदि के साफ-सफाई का भी विशेष ध्यान रखें। सबसे महत्वपूर्ण स्वच्छता संबंधी अच्छी आदतों को अपने जीवन में अवश्य शाामिल करें। स्वच्छता एक अच्छी आदत है, जो एक दिन में नहीं अपनायी जा सकती है। इसके लिए हमें हर संभव प्रयास करना होगा तभी जाकर हम अपने स्कूल, घर एवं गांव को स्वच्छ बना पायेंगे। हमारे शहर व गाँव को स्वच्छ बनाने में आप सभी का योगदान आपेक्षित है। साथ ही उन्होंने कहा कि बापू के द्वारा दिखाये गये मार्ग पर हमें चलने की आवश्यकता है। उनके अहिंसा, सद्भावना, सहअस्तित्व एवं आपसी सहयोग के विचार हमेशा हमारे लिए प्रासंगिक रहेंगे। वे आजीवन सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलें। उनके इस सिद्धांत को पूरी दुनिया ने अपनाया है। यही वजह है कि उनके जन्मदिवस को पूरे विश्व में अन्तर्राष्ट्रीय अंहिसा दिवस के रूप में मनाया जाता है। उनके विचारों का पालन कर हीं हम एक सशक्त राष्ट्र का निर्माण कर सकते हैं। वे देश के लिए एक समृद्ध विरासत छोड़ गये हैं और हमें उनके आदर्शों का अनुकरण करना चाहिये। ऐसे में यदि हम अपने जीवन में स्वच्छता को अहमियत देकर स्वच्छ समाज व स्वच्छ राष्ट्र की परिकल्पना में अपना योगदान देते हैं तो वास्तव में यही बापू के प्रति हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी। पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी को याद करते हुए डीडीसी ने कहा कि उनका जीवन हम सभी के लिए अनुकरणीय है। उन्होंने अपने जीवन में हमेशा सादा जीवन और उच्च विचार को जगह दी। भले हीं वे आज हमारे बीच न हों, लेकिन उनके विचारों और आदर्शों का अनुकरण हम सब आज भी करने का प्रयास कर रहे हैं। उनका अमूल्य राष्ट्रीय उद्घोष ‘‘जय जवान, जय किसान’’ आज भी सशक्त एवं समृद्ध भारत के निर्माण में निर्माण में बिल्कुल प्रासंगिक है।