रांची । झारखंड के 12 नक्सली जिलों में संविदा पर बहाल सहायक पुलिसकर्मियों का आंदोलान जारी है. मोरहाबादी मैदान में सहायक पुलिसकर्मी सातवें दिन रविवार को भी धरना पर बैठे हुए हैं. इन पुलिसकर्मियों ने राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को आमंत्रित किया है. इनका कहना है कि सीएम हमारे साथ बैठकर भोजन करें और हमारे दर्द को समझने का प्रयास करें. उनका कहना है कि सहायक पुलिसकर्मियों की बहाली नियमावली के अनुसार हुआ है इस बात को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन समझने की कोशिश करें. तीन साल के बाद सभी बहाल हुए सहायक पुलिसकर्मियों को जिला पुलिस में समायोजित करने की बात कही गई थी लेकिन अब यह बात सिर्फ हवा हवाई बनकर रह गया है.

सहायक पुलिसकर्मियों ने बताया कि गांधी जयंती के अवसर पर हम सभी सहायक पुलिसकर्मी मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और राज्यपाल रमेश बैस से मिलकर अपनी मांग को रखना चाह रहे थे. लेकिन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन हमारी मांगों को जायज समझते हुए हमसे नजरें चुरा ली और मोहराबादी का कार्यक्रम रद्द कर दिया.