रामगढ़ । झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के महासचिव विस्थापितों के अधिकार को लेकर हमेशा मुखर हो कर आन्दोलन कारी नेता फागू बेसरा ने कहा है कि तापिन साऊथ परियोजना में विस्थापितों को रोजगार से वंचित करने की साज़िश चल रही है। स्थानीय विधायक जेपी भाई पटेल और उनके नजदीकी रिश्तेदार शिवलाल महतो को मजदूरों के पैसे हड़प्पने के आरोप में सेल अध्यक्ष के जिम्मेदारी से मुक्त कर देने के कारण दोनों की मानसिक संतुलन गड़बड़ा गया है। चोरी और सीनाजोरी के तहत विभिन्न तरह के हथकंडे अपना कर दहशत एवं अशांति फैला कर सेल को बंद करने की साज़िश चल रहा है। स्थानीय विधायक एवं उनके बहनोई शिवलाल महतो के द्वारा अनर्गल आरोप विस्थापितों, स्थानीय पुलिस प्रशासन, और सी सी सी एल प्रबंधन पर लगाया जा रहा है।
विधायक जी पहले आपने बहनोई शिवलाल महतो से छः माह का मजदूरों का मजदूरी हड़प्पा राशि का हिसाब जमा कराए, दोनों साला बहनोई ट्रक मालिक और डीओ होल्डर भी है, कोयले का धंधा कौन करता है, सबको मालूम है। अवैध वसूली, कोयले की तस्करी हेरा-फेरी, रंगदारी,मारपीट कौन करता है, सबको मालूम है।
झारखंड मुक्ति मोर्चा जल जंगल जमीन और रोजगार के लिए हमेशा संघर्षरत रहीं है। विधायक जेपी भाई पटेल का पैदा भी झारखंड मुक्ति मोर्चा में ही हुआ है।
प्रेस मीडिया के माध्यम से बेबुनियाद अनर्गल आरोप अवैध वसूली का मामले को बिना तथ्यों को समझे प्रसारित कराया जा रहा है। खुद शिवलाल महतो सेल का अध्यक्ष बनकर छः महीनों तक मजदूरों का मजदूरी राशि डीओ होल्डर से लेकर हड़प्प लिए है। दोनों साला बहनोई पैसे को पचाने के लिए नौटंकी कर रहे हैं।परियोजना में विस्थापितों एवं प्रभावितों को वैकल्पिक रोजगार मिला है। लगभग दस हजार मजदूरों को वैकल्पिक रोजगार मिला हुआ है।पहले ट्रकों में हैंड लोडिंग होता था, परंतु एक समझौता के तहत पेलोडर लोडिंग इसी शर्त पर चालू किया गया है कि मजदूरों के हक को समाप्त नहीं किया जाएगा।
स्थानीय विधायक जेपी भाई पटेल, शिवलाल महतो, देवकी महतो,कोयला माफिया प्रमोद सिंह अपने नीजि स्वार्थ के लिए अपना वर्चस्व अधिपत्य स्थापित कर अवैध वसूली, कोयले की तस्करी हेरा-फेरी, रंगदारी करना चाहते हैं।
वीणा मिश्रा, शक्ति देवी प्रमोद सिंह जैसे लोग विधायक जी के विस्थापित नेता हैं।
विधायक जी अपने रिश्तेदारों के मोहमाया से बाहर निकले, विस्थापितों एवं प्रभावितों के हितों में विचार करें।
जन मुद्दों और रोजगार के हित में अभिभावक का भूमिका निभावें।
विकास और रोजगार में क्षूद्र राजनीतिक ना करें।