लोहरदगा l दिनांक 04 अक्टूबर को अजय उद्यान में शहीद पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह की शहादत दिवस पर श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस श्रद्धांजलि कार्यक्रम में विशेष रूप से उपायुक्त दिलीप कुमार टोप्पो, पुलिस अधीक्षक प्रियंका मीणा समेत जिले के अन्य पदाधिकारीगण, शहीद अजय कुमार सिंह ट्रस्ट के प्रतिनिधि और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

अपने उद्बोधन में उपायुक्त दिलीप कुमार टोप्पो ने कहा कि आज लोहरदगा जिले के एक शौर्य का दिन है। इस दिन हमारे जिले के जांबाज व बहादुर पुलिस अधीक्षक वर्ष 2000 में नक्सलियों के साथ हुई लड़ाई में शहीद हो गये थे। इस दिन हमलोगों ने एक बहुत ही काबिल व बहादुर पुलिस पदाधिकारी का खोया। भले ही वे शारीरिक रूप से हमारे बीच मौजूद नहीं है लेकिन उनकी आत्मा और उनकी प्रेरणा सदैव हमारे लिए अनुकरणीय हैं। इस उद्यान को हम आने वाले दिनों में और नये रूप में संवारेंगे।
उपायुक्त ने कहा कि जिले के वैसे भटके हुए लोग जो नक्सली/उग्रवादी विचारधारा से जुड़े हुए हैं उनसे अपील है कि वे सरकार के द्वारा चलायी जा रही कल्याणकारी योजनाओं से जुड़ें, उसका लाभ उठायें। मुख्यधारा से जुड़े और जिला के विकास में सहयोग करें। यही समय की मांग है।

कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक ने कहा कि यह शहादत दिवस है। शहीद अजय कुमार सिंह के त्याग और बलिदान का दिन है। यह घटना पेशरार में 20 वर्ष पहले हुई थी जो कि वर्तमान पेशरार प्रखण्ड से बिल्कुल ही अलग थी। आज का पेशरार विकास की ओर अग्रसर है। वहां के बच्चे स्कूली शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। उनका भविष्य उज्जवल है। आज के बीस वर्ष पहले पेशरार में बच्चे पढ़ाई की कल्पना नहीं कर सकते थे। शहीद के बलिदान के बाद हम सभी के प्रयास से जो शांति व्यवस्था जिले में कायम हुई है उसे हम आगे इसी तरह कायम रखना चाहते हैं। उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जायेगा।

कार्यक्रम में डीसी, एसपी, एसडीओ, कमांडेंट पीके संदवार, ए एसपी दीपक पांडे, डीएसपी, एसडीपीओ, देवेंद्र कुमार, विजय कुमार, चंद्रशेखर अग्रवाल, ओमप्रकाश सिंह ,राजीव रंजन, डॉक्टर एसएन चौधरी, डॉ गणेश प्रसाद, डॉक्टर आइलीन, शमीमा खातून राज मित्तल, सिस्टर पुष्पा, राजेश महतो, राजेंद्र खत्री, मोनू पोद्दार विवेक कुमार,अजय पंकज, मनोरम एक्का, कमला देवी,थाना प्रभारी मंटू कुमार, इंस्पेक्टर चंद्रमोहन हांसदा, अनिल उरांव, पोलीकार्प टोप्पो शहादत हुसैन तथा शहीद अजय कुमार के परिजन मौजूद थे।