हजारीबाग । भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी का 12 वां जिला सम्मेलन कर्मवीर भवन में संपन्न हुआ। सम्मेलन के पर्यवेक्षक राज्य एवं सचिव मंडल सदस्य कहां की 2014 के बाद भाजपा नेतृत्व कि एनडीए सरकार पूंजीपतियों के फायदे के लिए एक के बाद एक कई कानून बदले और कई नए कानून बनाएं जिसके चलते देश की अर्थव्यवस्था बहुत तेजी से नीचे जा रही है और समय रहते ध्यान नहीं दिया गया तो देश की अर्थव्यवस्था रसातल में चली जाएगी । हालत यह है कि सरकार अपने खर्चे चलाने के लिए फायदे वाली सरकारी कंपनियों को बेच रही है इससे साबित होता है की देश की आर्थिक स्थिति अत्यंत ही दयनीय है। किसान आंदोलन आजादी के बाद जितने भी आंदोलन हुए उसमें सबसे बड़ा आंदोलन है और तीन काले कृषि कानून सेना सिर्फ किसान बल्कि आम जनता को भी बहुत नुकसान होने वाला है इसलिए हिंदुस्तान के एक-एक आदमी को किसान आंदोलन का समर्थन करना चाहिए.।
सचिव ने शोक प्रस्ताव पेश करते हुए कहा कि बीते सम्मेलन से लेकर के इस सम्मेलन तक पार्टी नेता, सदस्य, प्रगतिशील लोग, जनवादी आंदोलन में शहीद हुए। इस सम्मेलन में हजारीबाग रेलवे स्टेशन से लंबी दूरी की ट्रेन चलाने, रसोईया एवं संविदा पर रखे गए तमाम कर्मियों को नियमित करने, बानादाग साईडिंग की समस्या हल करने सहित प्रतिनिधियों ने 5 प्रस्ताव पेश किया. सभी प्रस्ताव को जिले भर से आए प्रतिनिधियों ने सर्वसम्मति से पास कर दिया गया।