गुमला | वनवासी कल्याण केंद्र गुमला द्वारा राजकीय मध्य विद्यालय ग्राम रमजा में वन सब्जी महोत्सव का आयोजन किया गयाl कार्यक्रम में पधारे पदाधिकारियों अतिथियों का स्वागत महिला समूह की महिलाओं द्वारा गीत संगीत नृत्य एवं फूल माला अंग वस्त्र देकर स्वागत किया गया। सर्वप्रथम कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ग्राम विकास प्रमुख राघव राणा ने सब्जी वन महोत्सव के आयोजन का महत्व बताते हुए उन्हें बचाने एवं वाटिका के रूप में विकसित करने के लिए प्रेरित किया श्री राघव राणा ने वनवासी कल्याण केंद्र द्वारा चलाए जा रहे सेवा कार्य का उल्लेख करते हुए केंद्र सरकार के लाभकारी योजनाओं की जानकारी दी । मुख्य अतिथि श्री पुनीत लाल ने ग्राम विकास के कार्यों का उल्लेख किया एवं आर्थिक विकास के लिए वनवासी कल्याण केंद्र की ओर से चावल एवं आटा तैयार करने का मशीन महिला समूह को भेंट कियाl सांसद प्रतिनिधि श्री भुनेश्वर साहू जी ने ग्रामीणों की मांग को देखते हुए सामुदायिक विकास भवन का निर्माण एवं सड़क निर्माण का आश्वासन दिया।
अविनाश कुमार ने केंद्र सरकार की उज्ज्वला योजना के तहत 9 अक्टूबर को शिविर लगाकर फार्म भरने एवं आपूर्ति करने के लिए श्री अविनाश साहू जी ने जी ने ग्रामीणों को कहाl कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के जिला अध्यक्ष देवेंद्र लाल उरांव ने बताया कि जिस समय कोरोना के वैश्विक महामारी से दुनिया जंग लड़ रही थी उस समय गांव के लोग कंदमूल साग सब्जी जंगल पहाड़ के प्राकृतिक वातावरण में सुखी और चैन से रह रहे थे कोरोना इन वनवाशियों तनिक भी छू नहीं पाईl जनजातियों की पहचान व उनका आरक्षण उन की रीति नीति संस्कृति परंपरा एवं जंगल पहाड़ों से है इन्हें संजोए रखने की आवश्यकता हैl प्रखंड सांसद प्रतिनिधि गजाधर सिंह ने कहा कि आने वाली पीढ़ियों को हमें इन औषधियों की एक विशेषता एवं इन खनिज संपदाओं को संरक्षण करने की अति आवश्यकता हैl पंचायत के मुखिया विशु सोरेंग ने कहा कि गांव के विकास के लिए हम निरंतर प्रयासरत हैंl महिला समूह द्वारा जंगल पहाड़ खेत खलिहान से 56 सब्जी ,कंद मूल औषधि जड़ी बूटी प्रकार प्रदर्शनी लगाया गया और उनकी विशेषताओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई।
व विद्यालय प्रांगण में पौधारोपण किया गया।
खेदु नायक ने पूरे कार्यक्रम का संचालन किया वह अपने गीत संगीत से सभी लोगों को रिझाया। इस मौके पर जिला संगठन मंत्री अगंनु उराँव सुश्री ललिता कुमारी बीणा कुमारी खुना सिंह ललित सिंह प्रधानाचार्य बाखला जी अनिल साहु हरीनारायण सिंह सहित सेकेड़ो ग्रामीण मौजुद थे।