पाकुड़ ( लिट्टीपाड़ा ) । बुधवार प्रखंड मुख्यालय से महज 20 किलोमीटर दूरी पर स्थित तालपहाड़ी कदम टोला गांव आज भी विकास से कोसों दूर हैं। आजादी के बाद से आज तक मुख्य सड़क से कदम टोला तक जाने के लिए कोई संपर्क पथ नहीं है । बीच में एक नदी भी मिलता है ।इस गांव में पेय जल का भी गंभीर समस्या है। यहां के सभी कदम टोला वासी नदीयों का दूषित पानी पीने को मजबूर हैं। लगभग 40 परिवार इस टोला में निवास करते हैं।इस टोला मे प्रधान मंत्री आवास योजना के तहत एक भी मकान नहीं बना है।ग्रामीणों ने जानकारी देते हुए कहा कि किसी को न वृद्धा पेंशन मिल रहा है ।और न ही विधवा पेंशन मिल रहा है । यहाँ की वृद्धा, विधवा पेंशन से भी इस गांव के लोग वचिंत है।समाज सेवी मार्क बास्की ने कहा अफ़सोस की बात है । कि हमारे इस पंचायत से ही मुखिया, वर्तमान विधायक भी आते हैं लेकिन बुनियादी सुविधाओं से इस गांव आज भी वंचित हैं।यहाँ के लोगों ने मुखिया, प्रमुख से लेकर सांसद, विधायक, मंत्री तक का प्रतिनिधित्व करने मौका दिया वर्तमान विधायक भी उसी पंचायत से आते हैं ।लेकिन विकास कार्यों की हकीकत यही है सच है।बड़ा सवाल
अखिर विधायक जी कि पंचायत के तालपहाड़ी कदम मे सरकार की विकास कब पहुंचेगी ।यहां कि ग्रामीणों को बुनियादी सुविधाएं कब मिलेगी।पकड्डियों के सहारे कब आते रहेंगे।देखना होगा कब तक मे यहां की ग्रमीणों को बुनियादी सुविधाओं से निजात मिलती है।इस मौके पर समाज सेवी मार्क बास्की, ग्राम प्रधान गोल्डेन हाँसदा, राजेश मरांडी,आदि सैकड़ों ग्रामीण मौजूद थे।