खूंटी। वित्तीय सेवा, वित्त विभाग, भारत सरकार के निर्देश के आलोक में ‘‘लाये हैं त्यौहार आपके द्वार‘‘ थीम के साथ समारोह का आयोजन कर नगर भवन, खूंटी में ग्राहक जनसंपर्क अभियान का शुभारंभ किया गया।
ग्राहक जनसंपर्क अभियान का शुभारंभ मुख्य अतिथि उपायुक्त, खूंटी शशि रंजन, विशिष्ट अतिथि उप विकास आयुक्त अरुण कुमार सिंह, बैंक ऑफ इंडिया, एनबीजी, झारखंड के सहायक प्रबंधक विक्रम सिन्हा सहित अन्य ने दीप प्रज्वलित कर किया।

मौके पर उपायुक्त ने कहा कि कोविड संक्रमण काल के दौरान उद्योग-धंधे पर प्रतिकुल प्रभाव पड़ा है। पर, अब धीरे-धीरे उद्योग-धंधे के साथ ही जिले की अर्थव्यवस्था पटरी पर आने लगी है। जिले के व्यवसायी वर्ग खासकर युवा वर्ग को चाहिए कि बैंकों से आर्थिक सहायता लेकर स्वरोजार की दिशा में आगे आएं। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के अधिसंख्यक लोगों को बैंकिंग प्रणाली व उपलब्ध वित्तीय सेवाओं से अनभिज्ञ हैं। अतः बैंककर्मियों को चाहिए कि ग्रामीणों को स्थानीय भाषा में बैंकिंग प्रणाली व उपलब्ध वित्तीय सेवाओं की जानकारी दें। उन्होंने बैंक अधिकारियों को निर्देश दिया कि बैंक में लोन के लिए आवेदन लेकर आनेवाले लोगों का सहयोग करें और संभव होतो आवश्यक प्रक्रिया के बाद ऋण को यथाशीघ्र स्वीकृत करने का प्रयास करें।

उपायुक्त ने आगे कहा कि खूंटी जिला के लोग मुख्यतः कृषि कार्य पर निर्भर हैं। इस आलोेक में जिले के शत्-प्रतिशत किसानों को केसीसी के लाभ से अच्छादित करने की आवश्कता हैं। उन्होंने कहा कि जिले के युवावर्ग को चाहिए कि वे कृषि कार्य के अलावे सुकर पालन, कुक्कुट पालन, गाय, बकरी पालन सहित अन्य स्वरोजगार अपनाने की ओर अग्रसर हों। जिला प्रशासन द्वारा युवाओं को स्वरोजगार हेतु प्रेरित करने के लिए रेसिडेंस ट्रेनिंग की व्यवस्था की तैयारी की जा रही है। उन्होंने लोगों से दारु-हड़िया का त्यागकर विकास की मुख्य धारा से जुड़ने पर जोर देते हुए सरकार की विविध कल्याणकारी योजनाओं के प्रति जागरुक होकर लाभ उठाने की अपील की। उन्होंने कहा कि योजनाओं के लाभुक अपने भीतर मेहनत करने की प्रवृति का विकास करने के उपरांत ही सरकार की योजनाओं से लाभ उठा सकते हैं।

आयोजित ग्राहक जनसंपर्क अभियान के दौरान लाभुकों के बीच विभिन्न बैकों द्वारा लोन स्वीकृति पत्र का वितरण किया गया। जिले के अलग-अलग बैंकों द्वारा 503 लाभुकों के 3224.74 लाख रुपये पर्सलन लोन, कृषि व्यवसाय व स्वरोजगार हेतु 1838 लाभुकों के 711.14 लाख रुपये, एमएसएमई के तहत 36 लाभुकों के 244.90 लाख रुपये तथा 45 एसएचजी के 82.50 लाख रुपये बतौर ऋण की राशि स्वीकृत किये गये हैं। वहीं विभिन्न बैंकों द्वारा बैंक अकाउंट खोलने हेतु 2864 लोगों के नाम इनरोल किये गए है।
ग्राहक जनसंपर्क अभियान के दौरान लोन मेला का आयोजन किया गया। मेले में बैंक आफ इंडिया, स्टेट बैंक आफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक, यूनियन बैंक, बैंक आफ बड़ौदा, केनरा बैंक, एचडीएफसी बैंक, झारखंड राज्य ग्रामीण बैंक, झारखंड कापरेटिव बैंक, उद्योग विभाग, मत्स्य विभाग, झारखंड स्टेट लाईवलीहुड प्रोमोशन सोसाईटी, आरसेटी, खूंटी द्वारा स्टाल लगाये गये। इन स्टालों पर संबंधित विभागों द्वारा बैंकों से ग्राहकों के लिए उपलब्ध वित्तीय सेवाओं की जानकारी दी गई।