पाकुड़। एकीकृत गृह जिला स्थानांतरण शिक्षक संघ की बैठक प्रदेश प्रभारी दिलीप कुमार राय की अध्यक्षता में लड्डू बाबू बगान में गुरुवार को की गई।
बैठक में गृह जिला स्थानांतरण को लेकर व्यापक विचार विमर्श किया गया। बैठक में निर्णय लिया गया कि सरकार अविलंब शिक्षक स्थानांतरण नियमावली को जारी करते हुए शिक्षकों को गृह जिले में स्थानांतरित करने काम जल्द शुरू करे। शिक्षक स्थानांतरण नियमावली संशोधन को लेकर गठित उच्च स्तरीय कमिटी द्वारा झारखंड राज्य के शिक्षक संगठनों से प्राप्त सुझावों को शामिल करते हुए नियमावली का ड्राफ्ट तैयार कर शिक्षा मंत्रालय में सौंपने की जानकारी मिल रही है लेकिन उस नियमावली में कौन-कौन से विन्दुओं को शामिल किया गया है इसकी जानकारी नहीं होने से शिक्षकों में असमंजस की स्थिति बनी हुई है।
संघ के प्रदेश प्रभारी श्री राय ने कहा स्थानांतरण नियमावली में शिक्षक शिक्षिकाओं के गृह जिला स्थानांतरण में सेवाकाल की समय सीमा की बाध्यता को समाप्त करते हुए सेवा संपुष्टि के बाद सामान्य परिस्थितियों में एवं वरीयता को बरकरार रखते हुए गृह जिले में स्थानांतरण का एक मौका दिए जाने का प्रावधान शामिल किया जाना चाहिए। हम शिक्षकों को उम्मीद है नियमावली शिक्षकों के हीतों का ध्यान रखा गया होगा।
नई नियुक्ति के पूर्व स्थानांतरण करने के बाद जिले की वास्तविक रिक्तियों के आधार पर नियुक्ति होने से सभी शिक्षकों को गृह जिले में जाने का मौका मिलेगा।
उन्होंने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री महोदय ने हम शिक्षकों के निवेदन पर संज्ञान लेते हुए गृह जिला स्थानांतरण हेतु नियमावली में संशोधन का काम अंतिम चरण में है लेकिन अनावश्यक विलम्ब होने से शिक्षकों का धैर्य जवाब दे रहा है।
सरकार के ध्यानाकर्षण के लिए दुर्गा पूजा के बाद आगामी 17 अक्टूबर को राज्य स्तरीय बैठक का आयोजन रांची में करने का निर्णय लिया गया है।
सरकार से निवेदन है कि जल्द से जल्द गृह जिला स्थानांतरण का नियमावली तैयार कर गृह जिला स्थानांतरण का कार्य शुरू किया जाए।
मौके पर प्रदेश प्रभारी दिलीप कुमार राय, जिला सचिव बिनोद कुमार सिंह, कोषाध्यक्ष श्रीनिवास गोप, कपूर महतो, शंभू शरण यादव, छोटीलाल यादव, बिजय नंदन त्रिवेदी, रियाजूद्दीन अंसारी, पोखन महतो, विजय सिंह, सुधीर सिंह, संजय सेन, अविनाश पंडित, विश्वजीत पांडेय, चन्द्रशेखर मंडल, रोहित मंडल, आनंद रवानी, प्रेमचंद महतो, दीपक प्रसाद, जन्मजय महतो, उत्तम कुमार मंडल, सुनिल मंडल समेत अन्य मौजूद थे।